Narendra Modi

PM मोदी बोले, वन रैंक वन पेंशन का पांच साल पूरा होना एक उल्लेखनीय पल है


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी)  के पांच साल पूरे होने के अवसर पर शनिवार को पूर्व सैनिकों के योगदान पर आभार प्रकट किया है। उन्होंने ओआरओपी को ऐतिहासिक कदम बताया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘‘आज से पांच साल पहले, भारत ने एक ऐतिहासिक कदम उठाया था। जिसके तहत, देश की रक्षा करने वाले सैनिकों के बेहतर भविष्य के लिए फैसला किया गया था। ओआरओपी का पांच साल पूरा होना एक उल्लेखनीय पल है। भारत के लोग दशकों से ओआरओपी का इंतजार कर रहे थे। मैं अपने पूर्व सैनिकों की सेवाओं के प्रति आभार व्यक्त करता हूं।’’

ओआरओपी को लागू करने का निर्णय सात नवंबर 2015 को लिया गया था। हालांकि, इसे एक जुलाई 2014 से प्रभावी कर दिया गया था। जिसमें 30 जून 2014 तक सेवानिवृत्त हुए सशस्त्र बल के जवानों को कवर किया गया। इसके तहत रिटायरमेंट की तिथि की परवाह किए बिना, सेवा की समान अवधि के साथ एक ही रैंक में सेवानिवृत्त सैनिकों को समान पेंशन व्यवस्था हुई। ओआरओपी के तहत 20.60 लाख सशस्त्र बल के पेंशनरों को 10,795.4 करोड़ की बकाया राशि दी गई।