Pharmacist strike

अपनी मांगों को लेकर रूरल हेल्थ फार्मासिस्ट अनिश्चित काल हड़ताल पर

फाजिल्का: कोविड-19 में जहां हेल्थ डिपार्टमेंट से जुड़े डॉक्टरों, नर्सों और फार्मासिस्टों ने फ्रंट लाइन पर आकर पिछले 3 महीने से अपनी ड्यूटी निभाई है वही सरकारी इन फार्मासिस्टस की मांगों पर विचार नहीं कर रही जिसके चलते पंजाब भर के रूरल हेल्थ फार्मासिस्ट पिछले 1 सप्ताह से हड़ताल पर चल रहे हैं और जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं की जाती तब तक हड़ताल जारी रहेगी जिला फाजिल्का के रूरल हेल्थ  फार्मासिस्ट डीसी दफ्तर के आगे हड़ताल पर बैठे हैं और सरकार को मुर्दाबाद की नारेबाजी की जा रही है  गौरतलब है कि इनको पंचायत विभाग द्वारा गांवों में सेहत सुविधाएं देने के लिए फार्मासिस्ट लगाया गया था लेकिन इनकी तनख्वाह बहुत कम है और दूसरी सुविधाएं अभी तक इनको नहीं दी जा रही इसके चलते ये हड़ताल पर चल रहे हैं

फार्मासिस्टों ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि उनको पंचायत विभाग द्वारा भर्ती किया गया था जिसमें उनको बहुत कम तनख्वाह दी जा रही है उन्होंने लंबे समय से पंजाब सरकार के आगे तनख्वाह बढ़ाने और दूसरी सुविधाएं देने की मांग रखी थी लेकिन सरकार ने उनकी और कभी ध्यान नहीं दिया जबकि उन्होंने कोविड-19 के दौरान हर जगह पर अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभाई जिसके दौरान इनके एक फार्मासिस्ट जो संगरूर में थी वह कोरोना पीड़ित हो गई लेकिन उनको ना तो कोई सेहत बीमा दिया जा रहा है और ना ही कोई दूसरी सुविधा जिसके चलते पंजाब भर में फार्मासिस्टों ने हड़ताल कर रखी है और जब तक सरकार उनकी मांगें नहीं मानेगी तब तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी।