Political polarization

राजनीतिक ध्रुवीकरण अमेरिका की जीवन शक्ति का लगातार उपभोग करता है

नव वर्ष के शुरु में अमेरिकी नेता के कुछ समर्थकों ने संसद भवन पर हमला किया और आम चुनाव के परिणाम बदलने की कोशिश की, जिससे पूरे देश में राजनीतिक तूफ़ान पैदा हुआ। इसके बाद डेमोक्रेटिक पार्टी द्वारा प्रेरित संसद के प्रतिनिधि सदन ने 13 जनवरी को मौजूदा नेता के खिलाफ़ "विद्रोह उकसाने" और अन्य कारणों से दूसरा महाभियोग चलाया।

एक-एक राजनीतिक तमाशे के पीछे अमेरिकी समाज में गहरे अंतर्विरोधों का एक केंद्रित प्रकोप है। यह व्यक्तिगत शिकायतों और पार्टियों के बीच संघर्ष मिश्रित शातिर लड़ाई का एक विस्तार भी है। वाशिंगटन में आज, राजनीतिक ध्रुवीकरण एक अभूतपूर्व स्तर पर पहुंच गया है। जैसा कि ब्रिटेन में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में एक वरिष्ठ शोधकर्ता मार्टिन जैक्स ने कहा कि अमेरिका अब एक अत्यधिक ध्रुवीकृत देश है। रिपब्लिकन और डेमोक्रेट्स अब एक ही चैनल पर बात नहीं कर रहे हैं। दोनों पक्ष अलग-अलग दुनिया पर कब्जा करते हैं, और परिणाम यह है कि सरकार तेजी से पंगु हो गई है।

वास्तव में, राजनीतिक ध्रुवीकरण अमेरिकी राजनीतिक पारिस्थितिकी की एक विशिष्ट विशेषता है। दोनों पार्टियां देश और लोगों के हितों के ऊपर पक्षपातपूर्ण हित रखते हैं और दोनों पक्षों के बीच संघर्ष तेज हो गया है। कोविड-19 महामारी के गंभीर प्रभाव के चलते दोनों पार्टियां भी एक दूसरे को नुकसान पहुंचाती हैं, राजनीतिक अराजकता बढ़ रही है। पक्षीय रूढ़िवादिता अमेरिका के विभिन्न राज्यों के बीच महामारी रोधी आपूर्ति के समान वितरण में बाधा डालती है, एक समन्वित नीति की कमी के कारण अमेरिका को 2 करोड़ 30 लाख से अधिक संक्रमित लोगों की दर्दनाक कीमत और 3 लाख 80 हज़ार से अधिक मौतें देखनी पड़ी हैं। 

पार्टियों के बीच अभूतपूर्व संघर्ष ने अमेरिकी लोकतांत्रिक व्यवस्था के रंग "संघर्ष के लिए लड़ाई" को पूरी तरह से खोल कर रख दिया है। वर्तमान में अमेरिकी सामाजिक ढांचे में बड़ा परिवर्तन आ गया है। सामाजिक वर्गों के बीच लाभों का असमान वितरण मौजूद है। सामाजिक कल्याण, निष्पक्षता और आव्रजन जैसे मुद्दों पर दोनों पार्टियों की अलग-अलग नीतियां हैं, राष्ट्रीय शासन के स्तर पर, यह अवश्य ही एक विरोध के रूप में प्रकट होगा जिसका समन्वय करना मुश्किल है। यह अंततः अमेरिकी लोगों के हितों को नुकसान पहुंचाता है।

अमेरिका में तेजी से गंभीर राजनीतिक ध्रुवीकरण न केवल राजनीतिक प्रणाली की बीमारियों का प्रकटीकरण है, बल्कि सामाजिक संघर्ष और संकट के बढ़ने का भी एक प्रतीक है। व्हाइट हाउस के नेताओं के बदलाव के साथ यह स्थिति कभी खत्म नहीं होगी। इसके विपरीत, संघर्ष का एक नया दौर चल रहा है।
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )




Live TV

-->
Loading ...