chandigarh, navjot singh sidhu, lal singh, breaking news punjab, punjab news online

पंजाब कांग्रेस प्रधान पद : सिद्धू का रास्ता रोकने के लिए लाल सिंह का नाम आगे

Navjot sidhu VS Lal Singh


चंडीगढ़: नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब कांग्रेस प्रधान बनने की कोशिशों को ब्रेक लगाने के लिए पंजाब कांग्रेस पूर्व मंत्री एवं मंडी बोर्ड के चेयरमैन लाल सिंह का नाम आगे कर रही है। लाल सिंह पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और पिछड़े समुदाय से संबंध रखते हैं। पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत जहां सिद्धू की वापसी पर जोर लगा रहे हैं, वहीं सिद्धू की निगाहें पंजाब कांग्रेस प्रधान की कुर्सी पर हैं। इसे देखते हुए पार्टी और सरकार ने रावत के सामने लाल सिंह का नाम बढ़ा दिया है। 

पार्टी सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस विधायक प्रगट सिंह के बयान के बाद तेजी से बदले राजनीतिक घटनाक्रम में अब पंजाब कांग्रेस ने नया दाव खेलते हुए लाल सिंह का नाम आगे किया है। लाल सिंह की नियुक्ति से जातीय समीकरण भी कांग्रेस के पक्ष में होने के आसार हैं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक यही ताना बना बुनने के लिए वीरवार रात एक कैबिनेट मंत्री के निवास पर डिनर आयोजित किया गया। इस डिनर डिप्लोमैसी में रावत के अलावा एक अन्य कैबिनेट मंत्री और मुख्यमंत्री के विश्वासपात्र सलाहकार की मौजूदगी का पता चला है। यह भी पता चला है कि डिनर डिप्लोमैसी के दौरान प्रगट सिंह के बयान के पीछे सिद्धू की भूमिका की चर्चा के साथ-साथ प्रदेश प्रधान के लिए लाल सिंह का नाम आगे किया गया है।

शुक्रवार सुबह सरकार के एक कैबिनेट मंत्री हरीश रावत को लेकर मुख्यमंत्री के चॉपर से डेरा व्यास ले गए और दोनों नेताओं ने वहां डेरा व्यास मुखी के साथ एक घंटे से अधिक बातचीत की और आशीर्वाद लिया। इसके बाद प्रदेश प्रधान हरीश रावत उसी चॉपर से देहरादून के लिए रवाना हो गए।



Live TV

-->
Loading ...