Tibet

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की स्थापना की 55वीं वर्षगांठ पर ल्हासा में संगोष्ठी आयोजित

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की स्थापना की 55वीं वर्षगांठ पर 4 सितंबर को ल्हासा में एक संगोष्ठी आयोजित हुई। संगोष्ठी में उपस्थित प्रतिनिधियों में तिब्बत के शांतिपूर्ण मुक्ति और लोकतांत्रिक सुधार में भाग लेने वाले बुजुर्ग सिपाही, देश-भक्त सूत्र, मॉडल कार्यकर्ता, किसान व चरवाहे, समुदाय के निवासी, निजी उद्यमी तथा स्कूल शिक्षक और छात्र आदि शामिल हुए। ल्हासा में स्थित नेपाल के जनरल काउंसिल ने भी संगोष्ठी में भाग लिया। 
प्रतिनिधियों ने कहा कि बीते पचपन सालों में तिब्बती क्षेत्रों के जन जीवन में बहुत सुधार आया है। 

किसानों व चरवाहों के जीवन में भारी सुधार नजर आया है। आज राज मार्ग हरित गांव तक प्रशस्त हो चुका है, हरेक घर में टेलीविजन और टेलिफोन है, सभी बच्चे स्कूल जाते हैं, सभी परिवारों के अपने नये मकान हैं और लोगों के जीवन की गारंटी भी हासिल हो चुकी है। स्वायत्त प्रदेश के प्रमुख वू ईंग च्ये ने कहा कि बीते 55 सालों में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की जीडीपी में 112 गुना वृद्धि दर्ज हुई है। सड़क, रेलवे, उड्डयन और बिजली का नेटवर्क पूरे प्रदेश में फैला हुआ है। तिब्बत का पारिस्थितिक वातावरण दुनिया में सबसे अच्छा है और तिब्बती सीमावर्ती क्षेत्रों के विकास और निर्माण में भी तेजी आई है।

( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )