Balwinder Singh

शौर्य चक्र विजेता कामरेड बलविंदर सिंह का कत्ल, 2 व्यक्तियों ने मारी गोलियां

अमृतसरः पंजाब में आंतकवाद दौर में आंतकवादियों का बहादुरी से सामना करने वाले शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह की शुक्रवार को तरनतारन के भिखीविंड में स्थित उनके निवास पर 2 अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बलविंदर सिंह की पत्नी जगदीप कौर ने बताया कि सुबह करीब 07:00 बजे 2 अज्ञात लोग उसके घर में घुसे और बलविंदर सिंह पर गोलियां चलाना शुरु कर दिया, जिससे उनकी मौत हो गई। 

बलविंदर के भाई रंजीत सिंह ने दावा किया है कि हमले के पीछे आतंकवादी हो सकते हैं। हालांकि पुलिस ने अभी पक्के तौर पर ऐसा कुछ नहीं कहा है। मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन के अधिकारी आवश्यक जांच कर रहे हैं। पंजाब में बहादुरी के साथ आतंकवादियों का मुकाबला करने के लिए कामरेड बलविंदर सिंह और उनके पूरे परिवार को साल 1993 में राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा द्वारा शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। उनके साथ उनकी पत्नी जगदीप कौर, भाई रणजीत सिंह और भुपिंदर सिंह को भी शौर्य चक्र और शाल देकर सम्मानित किया गया था। राज्य में आंतकवाद दौरान बलविंदर सिंह का आंतकवादियों के साथ 13 बार मुकाबला हुआ था। 

पंजाब सरकार ने हाल ही में वापस ली थी सुरक्षा 
पंजाब सरकार ने हाल ही में बलविंदर की सुरक्षा वापस ले ली थी। उन्होंने फैसले का विरोध किया था क्योंकि उन पर पूर्व में भी हमला किया गया था। 2017 में कुछ अज्ञात हमलावरों ने उनके आवास पर कई राउंड गोलियां चलाई थीं। सौभाग्य से हमले के दौरान उनके परिवार के सदस्यों में से कोई भी घायल नहीं हुआ।