Shiv Sena, Jammu and Kashmir, Petrol Diesel Price

शिवसेना की कड़ी अपील: बहुत हुई पेट्रोल-डीजल की मार, रहम करो केंद्र सरकार

जम्मू: आजादी के बाद से पेट्रोल-डीजल एवं एल.पी.जी. की कीमतों के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंचने के खिलाफ शिवसेना बाला साहेब ठाकरे जम्मू-कश्मीर इकाई ने केंद्र सरकार से टैक्स कम करने एवं राहत देने की अपील करते जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। गुस्साए शिव सैनिकों ने अपने एक दोपहिए वाहन को भी आग की भेंट चढ़ा दिया। 

पार्टी प्रदेशाध्यक्ष मनीश साहनी के नेतृत्व में एकत्रित दर्जनों शिव सैनिकों ने पैट्रोलियम पदार्थों पर एक्साइज ड्यूटी घटाने एव जी.एस.टी. के दायरे में लाने की मांग की। साहनी ने कहा कि पैट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि से अब महंगाई आसमान छूने लगी है। कीमत में हो रहे इजाफे का असर किरायों में बढ़ौतरी एवं रोजमर्रा की जरूरतों पर पड़ा है। 

कोरोना काल में हर कोई परेशान है। कोरोना की मार से अब तक लोग उबर नहीं पाए हैं। ऐसे में पेट्रोल-डीजल, घरेलू गैस, खाद्य पदार्थों पर बढ़ती महंगाई ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। साहनी ने कहा कि एक लीटर पेट्रोल पर मात्र एक्साइज ड्यूटी 32.98 पैसे, जबकि डीजल पर 31.83 रु पए प्रति लीटर लगती है, जोकि पैट्रोल, डीजल के बेस प्राइस से भी ज्यादा है। वहीं राज्य सरकार द्वारा लगाई जा रहे शुल्क को भी जोड़ कर देखें तो जनता से पेट्रोल, डीजल पर 200 प्रतिशत के करीब शुल्क वसूला जा रहा है। वहीं एल.पी.जी. के मूल्य में भी माह में 3 बार बढ़ौतरी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि जनता महंगाई से त्रस्त है।  



Live TV

Breaking News

Loading ...