Shrinking, Anurag Thakur

370 व 35-A का हटना जम्मू-कश्मीर के हित में : अनुराग ठाकुर

जम्मू : जम्मू-कश्मीर डी.डी.सी. चुनावों के प्रभारी व केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफेयर्स राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने जम्मू-कश्मीर से अप्रासंगिक अनुच्छेद 370 व 35ए के हटने को यहां की जनता के हित में बताया है व गुपकार गठबंधन पर इसकी वापसी के झूठे सपने दिखाकर जम्मू-कश्मीर को फिर ठगने का प्रयास करने की बात कही है। अनुराग ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने वर्षो से जम्मू-कश्मीर का अभिशाप व इसके विकास में बाधक बने अनुच्छेद 370 व 35ए को हटाकर राज्य के विकास को गति व यहा के नागरिकों को अमन चैन से रहने का कवच प्रदान किया है। 370 व 35ए के कारण वर्षो से जम्मू-कश्मीर व यहां के नागरिक उन सुविधाओं से वंचित थे जिनके वो हकदार थे। इस अप्रासंगिक अनुच्छेद के साये तले कुछ परिवारों ने सिर्फ अपनी राजनैतिक रोटियां सेंकने व विलासितापूर्ण जीवन-यापन करने का काम किया है, जब से मोदी ने इस राज्य को उसका हक व पहचान दी है इन परिवारों में खलबली मची हुई है और वो मोदी विरोध के चक्कर में राज्य के हितों से समझौता करने के किए देशिवरोधी भाषा बोल रहे हैं व दुश्मन देश के साथ जा खड़े हुए हैं। वहीं अनुराग ठाकुर ने कहा कि अनुच्छेद 370 व 35ए प्रदेश से सदा-सदा के लिए जा चुका है और किसी भी सूरत हाल में इसकी वापसी सम्भव नहीं है। गुपकार गठबंधन इसकी वापसी के झूठे सपने यहा की जनता को दिखा रहा है। 370 व 35 ए के हटने से प्रदेश को लाभ ही मिला है। अब तक की सरकारों ने क्यों अनुच्छेद 370 को बनाए रखा और देश की जनता को गुमराह किया? क्यों देश की जनता की गाढ़े ख़ून-पसीने की कमाई को मुट्ठी भर लोगों की सुरक्षा और विशेष दर्जे की सुविधाओं के लिए लुटाया जाता रहा? क्यों सुरक्षा बलों के हाथ बांधकर उन्हें इन कश्मीरी अलगाववादियों की सुरक्षा हेतु मरने के लिए छोड़ दिया गया? इसके हटने से जम्मू-कश्मीर में स्थानीय लोगों की दोहरी नागरिकता की समस्या समाप्त हुई व जनजातीय व वाल्मीकी समाज को नागरिकता मिली है। 





Breaking News

Live TV

Loading ...