करवा चौथ

करवा चौथ पर खास : जानिए कब है पूजा का सही समय और पूजा की विधि

महिलाओं को दी गई सरगी थाली 
महिलाएं आज निर्जला उपवास रखेंगी. फिर रात के समय चांद की पूजा करने के बाद अपना व्रत तोड़ेंगी. महिलाओं ने सरगी को खाकर ही अपने व्रत की शुरूआत की है. आज सुबह से ही जगह-जगह व्रती महिलाओं की चहल-पहल दिखाई दे रही है. कई जगह पूजा-अर्चना भी की जा रही है. करवा चौथ की एक खास बात ये भी है कि ये पर्व अटूट प्रेम का प्रतीक है.  महिलाएं हर साल इस दिन का इंतज़ार करती हैं.

पूजा का शुभ मुहूर्त
पंचांग के अनुसार शाम 5 .34 बजे से शाम 6.52 मिनट तक करवा चौथ की पूजा का शुभ मुहूर्त बना है. जबकि करवाचौथ उपासना का समय सुबह 6.35 बजे से 8.12 बजे तक रहेगा.

करवा चौथ पूजा की विधि
करवा चौथ व्रत का प्रारंभ सूर्योदय से पहले ही हो जाता है. करवा चौथ के व्रत में सरगी ग्रहण करने की परंपरा है. सरगी करवा चौथ के व्रत में सुबह दी जाती है. करवा चौथ के व्रत में सारगी का विशेष महत्व बताया गया है. सुहागिन महिलाएं सास से मिली सरगी खाकर व्रत की शुरूआत करती हैं.