Tibet

तिब्बत में“बिजली के आकाशीय मार्ग”की सेवा शुरु

चीनी स्टेट ग्रिड कॉर्पोरेशन के आली प्रिफेक्चर और मध्य तिब्बत के बीच पावर ग्रिड इंटरकनेक्शन परियोजना का संचालन 4 दिसम्बर को शुरु हुआ। इस परियोजना का निर्माण सितंबर 2019 में शुरु हुआ था, जिसमें कुल 7.4 अरब युआन की राशि लगाई गई। बिजली लाइन ने तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में शिकाजे शहर से आली प्रिफेक्चर तक दो क्षेत्रों की 10 काउंटियों को जोड़ा है, जिसकी कुल लम्बाई 1689 किलोमीटर है।

चीनी स्टेट ग्रिड कॉर्पोरेशन के जनरल मैनेजर शिन पाओआन ने पेइचिंग में आयोजित परियोजना संचालन रस्म में कहा कि आली और मध्य तिब्बत को जोड़ने वाली इस परियोजना का निर्माण पूरा होने के बाद आली प्रिफेक्चर में बिजली के अभाव वाला सवाल पूरी तरह से हल हो जाएगा, इसके साथ ही यह तिब्बत में ऊर्जा विकास क्षमता और आर्थिक विकास क्षमता की उन्नति के लिए भी मददगार सिद्ध होगा। इस परियोजना से 3.8 लाख तिब्बती किसानों और चरवाहों के जीवन में सुधार होगा, उनके उत्पादन और विकास के लिए लगातार स्वच्छ बिजली मुहैया करवायी जाएगी।     

बता दें कि आली और मध्य तिब्बत के बीच पावर ग्रिड इंटरकनेक्शन परियोजना के तहत सबसे ऊंचा स्थल समुद्र सतह से 5357 मीटर पर स्थित है, जिसकी औसतन ऊँचाई 4572 मीटर है। परियोजना के निर्माण के दौरान अत्यंत खराब पर्यावरण स्थिति का सामना करना पड़ा था और यातायात की स्थिति भी बहुत खतरनाक थी। यह अब तक दुनिया में समुद्र सतह से सबसे ऊँचाई पर, सबसे कठिन निर्माण कार्य वाली 500 केवी बिजली ट्रांसमिशन और परिवर्तन परियोजना है।

( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )


Loading ...