CBI , governor

प्रतिनिधिमंडल की राज्यपाल से इंडिगो के प्रबंधक की हत्या की CBI जांच की मांग

पटना : बिहार में विभिन्न राजनीतिक पार्टयिों के एक प्रतिनिधिमंडल ने बृहस्पतिवार को राज्यपाल फागु चौहान से मुलाकात की और उन्हें एक ज्ञपन देकर एक एयरलाइन अधिकारी की हत्या के मामले की सीबीआई जांच की मांग की। हालांकि एक दिन पहले ही पुलिस ने हत्या के आरोपी को गिरफ्तार करने का दावा किया है। प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने मृतक रूपेश कुमार सिंह के परिवार के सदस्यों द्वारा पुलिस की कहानी पर अविश्वास जताए जाने को रेखांकित किया। पुलिस का दावा है कि हत्यारोड रोज का मामला है। रूपेश कुमार सिंह इंडिगो एयरलाइन में स्टेशन प्रबंधक थे। पूर्व मंत्री राम जी सिन्हा ने पत्रकारों से कहा,  हम हैरान है कि डीजीपी एसके सिंघला ने दावा किया था कि यह सुपारी हत्या का मामला है? जिस ऋतुराज को उन्होंने हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है, वह सुपारी हत्यारा नहीं है। पुलिस के मुताबिक, ऋतुराज कथित रूप से दो पहिया वाहनों की चोरी करता है। पुलिस के मुताबिक, उसके वाहन की पिछले साल नवंबर में रूपेश सिंह की कार से कथित रूप से टक्कर हो गई थी और रूपेश ने गुस्से में आकर उसे गाली दी थी। हालांकि रूपेश की बहन ने पुलिस के इस दावे का खंडन किया और कहा कि उनका भाई लड़ाई-झगड़ा करने वालों में से नहीं था। बहरहाल, कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री वीणा साही ने कहा,  हम निश्चित हैं कि ऋतुराज बली का बकरा है। उन्होंने कहा,  उसे बड़े लोगों को बचाने के लिए पकड़ा गया है जो हत्या में शामिल हो सकते हैं। सीबीआई जांच के बिना, हमें नहीं लगता है कि मामले में न्याय होगा। ज्ञपन पर हस्ताक्षर करने वालों में साही के अलावा, पूर्व मंत्री अजीत कुमार (जदयू के पूर्व नेता) और सुरेश शर्मा (भाजपा), पूर्व विधायक अवनीश कुमार (भाजपा) और पूर्व सांसद अरूण कुमार (आरएलएसपी) शामिल हैं। इस बीच, पुलिस अपने दावे पर कायम है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने कहा कि जांच करने वाली टीम तारीफ की हकदार है।





Live TV

-->
Loading ...