unique building in India, Jal Mahal, romantic time

भारत की सबसे प्रसिद्ध और अनोखी इमारत है 'Jal Mahal', ये राजा बिताता था अपनी पत्नियों के साथ यहां रोमेंटिक समय

भारत का इतिहास बहुत बड़ा है जिसके साथ उन इतिहास की यादें आज भी देखि या सुनी जा सकती हैं। जैसे के भारत में बहुत सी ऐतिहासिक इमारतें हैं जिसके चलते भारत को एक अलग पहचान मिली है। यही ऐतिहासिक इमारतें भारत की आन-बान और शान भी कहलाती हैं। आज हम भी आपको एक ऐसी ऐतिहासिक इमारत के बारे में बताने जा रहे हैं जो के भारत में बहुत ही प्रसिद्ध और प्रचलित है। जी हाँ, हम बात कर रहे हैं ऐसी ही एक अनोखी इमारत की जो के राजस्थान के जयपुर में स्थित है और उसका नाम है 'जल महल'। आपको बता दें के इस इमारत को 221 साल हो चुके हैं। परन्तु आज भी ये उसी शान से खड़ी हुई है। जल महल बहुत ही सुंदर और आकर्षक इमारत है। दूर-दूर से लोग इसे देखने के लिए राजिस्थान जाते हैं। 

Browse Jal Mahal, Jaipur Photos and Image Gallery | HolidayIQ

आपकी जानकारी के लिए बता दें के ये असल में यह एक महल है। जयपुर-आमेर मार्ग पर मानसागर झील के मध्य स्थित इस महल का निर्माण सवाई जयसिंह ने 1799 ईस्वी में करवाया था। इस महल के निर्माण से पहले जयसिंह ने जयपुर की जलापूर्ति हेतु गर्भावती नदी पर बांध बनवाकर मानसागर झील का निर्माण करवाया था।

Beautiful Jal Mahal in Jaipur, Rajasthan - YouTube

अरावली पहाड़ियों के गर्भ में स्थित जल महल को मानसागर झील के बीचों-बीच होने के कारण 'आई बॉल' भी कहा जाता है। इसके अलावा इसे 'रोमांटिक महल' के नाम से भी जाना जाता था। राजा अपनी रानी के साथ खास वक्त बिताने के लिए इस महल का इस्तेमाल करते थे। इसके अलावा राजसी उत्सवों पर भी महल का इस्तेमाल होता था।

THE WORLD OF INTERIORS on Instagram: “The early 18th-century Jal Mahal or  Water Palace at Jaipur in rajasthan has immensely rich decoration. In the  ceiling flo…

ये पांच मंजिला इस जल महल की सबसे खास बात ये है कि इसका सिर्फ एक मंजिल ही पानी के ऊपर दिखता है जबकि बाकी के चार मंजिल पानी के नीचे हैं। यही वजह है कि इस महल में गर्मी नहीं लगती। इस महल से पहाड़ और झील का खूबसूरत नजारा देखा जा सकता है। खासकर चांदनी रात में तो झील के पानी में स्थित यह महल बेहद ही खूबसूरत लगता है।

Jaipur | zachinkorea

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस जल महल के नर्सरी में एक लाख से भी ज्यादा पेड़ लगे हुए हैं, जिनकी दिन-रात रखवाली होती रहती है और इस काम में करीब 40 माली लगे हुए हैं। यह नर्सरी राजस्थान का सबसे उंचे पेड़ों वाला नर्सरी है। यहां बड़ी संख्या में लोग घूमने के लिए भी आते हैं। आप भी अगर घूमने का प्लान बना रहे हैं तो इस ऐतिहासिक इमारत को जरूर देखने के लिए जाएँ।