world

दुनिया को सहयोग की जरूरत है

वुहान खेल केंद्र का अतीत और वर्तमान चित्र चीनी नेटिजनों में वायरस बन गया है। कोविड-19 महामारी फैलने के बाद वुहान खेल केंद्र को 12 फरवरी को अस्थायी अस्पताल बनाया गया था। तब से 8 मार्च तक वुहान खेल केंद्र से बने अस्पताल में कुल 1,056 रोगियों का इलाज किया गया और मौत का कोई मामला नहीं आया।

वुहान खेल केंद्र मध्य चीन के हूपेई प्रांत की राजधानी वुहान के आर्थिक विकास क्षेत्र में स्थित है, जिसका क्षेत्रफल करीब 1.05 वर्ग किलोमीटर है। महामारी के दौरान अस्थायी अस्पताल होने के रूप में वुहान खेल केंद्र ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। 4 अक्तूबर को वह फिर से खोला गया। 4 अक्तूबर की शाम को वुहान खेल केंद्र के बास्केटबॉल हॉल में चैरिटी मैच आयोजित हुआ। प्रसिद्ध खिलाड़ी याओ मिंग समेत विभिन्न क्षेत्रों के सितारे और 7,500 दर्शकों ने बास्केटबॉल हॉल में खेल देखा। चीनी नेटिजनों ने कहा कि परिचित वुहान वापस लौट आया है।

इससे पहले वुहान में 14 लाख छात्र फिर से स्कूल वापस लौटने लगे हैं। इस खबर ने भी देसी-विदेशी मीडिया का ध्यान अपनी ओर खींचा। कई मीडिया संस्थाओं का विचार है कि वुहान समेत पूरे चीन में महामारी का प्रभाव दूर होकर सामान्य स्थिति बहाल हो चुकी है। महामारी की रोकथाम में चीन ने कारगर कदम उठाए, जिससे वुहान दुनिया में सबसे सुरक्षित जगह बन गया है। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने कहा कि अमेरिका में महामारी की स्थिति अब भी गंभीर है। अमेरिका को चीन से सीखना चाहिए।

हम जानते हैं कि कोविड-19 महामारी पिछले सौ सालों में दुनिया में फैलने वाली सबसे गंभीर महामारी है। अब तक पूरी दुनिया में पुष्ट मामलों की संख्या 3 करोड़ 50 लाख से अधिक है और मौत के मामलों की संख्या 10 लाख 30 हजार से अधिक हो गयी है। महामारी से दुनिया पर अभूतपूर्व प्रभाव पड़ रहा है। आने वाले समय में अनिश्चितता बढ़ रही है।

महामारी हमें बताती है कि हम सब लोग एक वैश्विक गांव में रहते हैं। विभिन्न देश घनिष्ठ रूप से जुड़े हुए हैं, मानव जाति का समान भाग्य है। महामारी के सामने हमें एकजुट होकर साहस और प्रयास के साथ इसका मुकाबला करना चाहिए, क्योंकि दुनिया में सहयोग की जरूरत है।
(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)