सूर्य के प्रवेश

16 सितंबर को हो रहे सूर्य के प्रवेश से इन राशि वालों को रहना होगा सावधान, करना पढ़ सकता है हानि का सामना

सूर्य को वेदों में जगत की आत्मा कहा गया है। समस्त चराचर जगत की आत्मा सूर्य ही है। सूर्य से ही इस पृथ्वी पर जीवन है, यह आज एक सर्वमान्य सत्य है। वैदिक काल में आर्य सूर्य को ही सारे जगत का कर्ता धर्ता मानते थे। सूर्य का शब्दार्थ है सर्व प्रेरक.यह सर्व प्रकाशक, सर्व प्रवर्तक होने से सर्व कल्याणकारी है। ऋग्वेद के देवताओं कें सूर्य का महत्वपूर्ण स्थान है। यजुर्वेद ने "चक्षो सूर्यो जायत" कह कर सूर्य को भगवान का नेत्र माना है। छान्दोग्यपनिषद में सूर्य को प्रणव निरूपित कर उनकी ध्यान साधना से पुत्र प्राप्ति का लाभ बताया गया है। ब्रह्मवैर्वत पुराण तो सूर्य को परमात्मा स्वरूप मानता है। प्रसिद्ध गायत्री मंत्र सूर्य परक ही है। सूर्योपनिषद में सूर्य को ही संपूर्ण जगत की उतपत्ति का एक मात्र कारण निरूपित किया गया है। और उन्ही को संपूर्ण जगत की आत्मा तथा ब्रह्म बताया गया है। सूर्योपनिषद की श्रुति के अनुसार संपूर्ण जगत की सृष्टि तथा उसका पालन सूर्य ही करते है। सूर्य ही संपूर्ण जगत की अंतरात्मा हैं। अत: कोई आश्चर्य नहीं कि वैदिक काल से ही भारत में सूर्योपासना का प्रचलन रहा है। पहले यह सूर्योपासना मंत्रों से होती थी। बाद में मूर्ति पूजा का प्रचलन हुआ तो यत्र तत्र सूर्य मन्दिरों का नैर्माण हुआ। भविष्य पुराण में ब्रह्मा विष्णु के मध्य एक संवाद में सूर्य पूजा एवं मन्दिर निर्माण का महत्व समझाया गया है। अनेक पुराणों में यह आख्यान भी मिलता है, कि ऋषि दुर्वासा के शाप से कुष्ठ रोग ग्रस्त श्री कृष्ण पुत्र साम्ब ने सूर्य की आराधना कर इस भयंकर रोग से मुक्ति पायी थी। प्राचीन काल में भगवान सूर्य के अनेक मन्दिर भारत में बने हुए थे। उनमे आज तो कुछ विश्व प्रसिद्ध हैं। वैदिक साहित्य में ही नहीं आयुर्वेद, ज्योतिष, हस्तरेखा शास्त्रों में सूर्य का महत्व प्रतिपादित किया गया है।

सूर्य देव 16 सितंबर को कन्या राशि में गोचर करेंगे और इस राशि में 17 अक्टूबर 2020 तक स्थित रहेंगे। ज्योतिष विज्ञान में सूर्य को सभी ग्रहों का राजा माना जाता है। इन्हें मान-सम्मान, पिता, उच्च पद, सरकारी कामकाज, आत्मा आदि कारक माना जाता है। सूर्य के इस गोचर के प्रभाव से सभी 12 राशियों पर इसका शुभाशुभ प्रभाव देखने को मिलेगा। आइए जानते हैं आपकी राशि पर सूर्य देव के इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा... 

मेष राशि
-सभी तरह की सुख समृद्धि प्रदान करेंगे। 
-अपने साहस और पराक्रम के बल पर विजय पाएंगे। 
-रोजगार की दृष्टि से कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा। 
-कोर्ट कचहरी के केस में विजयी होंगे। 
-परिवार में स्वास्थ्य संबंधी चिंता बढ़ सकती है।

वृषभ राशि
-प्रेम संबंधी मामलों के लिए समय प्रतिकूल होगा।
-उच्च शिक्षा, शोध परक जैसे कार्यों में सफलता मिलेगी। 
-संतान संबंधी चिंता से मुक्ति मिलेगी। 
-अपनी जिद के कारण कामयाब होंगे। 
-अधिकारियों से सहयोग मिलेगा। 

मिथुन राशि
-गृह क्लेश या मानसिक अशांति रह सकती है। 
-हृदय संबंधी विकारों से सावधान रहें।
-माता पिता के स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें। 
-लंबित पड़े हुए कार्यो का निपटारा होगा। 
-कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। 
-राजनीतिज्ञों तथा शीर्ष अधिकारियों से गहरे संबंध बनेंगे। 

कर्क राशि
-साहस एवं पराक्रम की वृद्धि करेंगे। 
-सभी सोची समझी रणनीति कारगर रहेगी।
-आपके फैसलों की सराहना होगी। 
-धर्म-कर्म के मामलों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। 
-विदेशी कंपनियों में सर्विस आदि के लिए आवेदन करना सफल रहेगा। 
-ऊर्जा शक्ति का सदुपयोग अच्छे कार्यों में करें।

सिंह राशि
-आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। 
-किसी महंगी वस्तु खरीद सकते हैं।
-काफी दिनों से रुका हुआ धन वापस मिल सकता है। 
-अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखें।

कन्या राशि
-शासन सत्ता का पूर्ण सहयोग मिलेगा। 
-सर्विस आदि के लिए आवेदन करना भी सफल रहेगा।
-नौकरी में नए अनुबंध की प्राप्ति के भी योग हैं। 
-धर्म और अध्यात्म के क्षेत्र में गहरी रूचि रहेगी। 
-प्रतियोगी परीक्षा के लिए समय अनुकूल है।
-संतान संबंधी चिंता में कमी आएगी।

तुला राशि
-कष्ट कारक यात्रा करनी पड़ सकती है। 
-मित्रों या रिश्तेदारों से अशुभ समाचार मिलने के भी योग हैं। 
-विदेश संबंधी कार्यों के लिए समय अनुकूल रहेगा। 
-अत्यधिक खर्च के कारण आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ेगा। 
-वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं दुर्घटना से बचें। 

वृश्चिक राशि
-आपकी परेशानियां दूर हो सकती हैं। 
-संतान संबंधी चिंता से मुक्ति मिलेगी। 
-उच्चाधिकारियों से भी मधुर संबंध बनेंगे। 
-सरकार के संबंधित कार्यों का निपटारा होगा। 
-प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलेगी।
-प्रेम संबंधी मामलों में उदासीनता रहेगी। 

धनु राशि
-कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी। 
-रोजगार की दिशा में किए गए सभी प्रयास सार्थक होंगे। 
-नए कारोबार के लिए समय अनुकूल रहेगा।
-विदेशी कंपनियों में भी नौकरी के लिए आवेदन करना सफल रहेगा। 
-माता पिता के स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें। 
-सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी।

मकर राशि
-आप दान पुण्य भी खूब करेंगे। 
-वीजा आदि का आवेदन करना भी सफल रहेगा। 
-उच्चाधिकारियों से मधुर संबंध बनाए रखें। 
-कोर्ट-कचहरी के मामले आपस में ही सुलझा लें। 
-षड्यंत्रकारियों से बचते रहें।

कुंभ राशि
-मान-सम्मान में वृद्धि होगी।
-स्वास्थ्य की दृष्टि से समय कुछ प्रतिकूल रह सकता है। 
-जमीन जायदाद संबंधी मामलों का निपटारा होगा। 
-आपके अपने ही लोग नीचा दिखाने की कोशिश करेंगे। 
-कार्यक्षेत्र में भी षड्यंत्र का शिकार होने से बचें। 
-गूढ़ विद्याओं के प्रति रुचि बढ़ेगी।

मीन राशि
-दांपत्य जीवन में कटुता आ सकती है। 
-दैनिक व्यापारियों के लिए समय अनुकूल रहेगा। 
-सरकारी काम में सफलता मिलने के संकेत हैं। 
-सावधान रहकर कार्य करें।