China

गोल्डन वीक के दौरान ऐसे बढ़ा चीन का आत्मविश्वास

 आजकल पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कहर से परेशान है, हर रोज़ संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं अब तक लाखों लोगों की जान भी यह खतरनाक वायरस ले चुका है। इसी का असर है कि अधिकांश देशों में भी अब लोगों की आवाजाही बहुत सीमित है या फिर लॉकडाउन के कारण पूरी तरह बाधित है। लेकिन 1.4 अरब की आबादी वाले चीन में पिछले कुछ महीनों से लगभग हर चीज सामान्य है।

 अभी-अभी खत्म हुए गोल्डन वीक(नेशनल डे) के दौरान चीन का आत्मविश्वास और बढ़ गया है। शायद आपको यकीन न आए लेकिन सिर्फ सात दिन की छुट्टियों के दौरान 63 करोड़ से अधिक पर्यटकों ने देश के विभिन्न स्थानों का भ्रमण किया। इस दौरान 4 खरब 66 अरब 55 करोड़ युआन से अधिक की आय पर्यटन के जरिए हुई। जबकि खुदरा और खानपान उद्योगों ने लगभग 16 खरब युआन का बिजनेस किया। 

वैसे मई दिवस की छुट्टियों के वक्त से ही चीन में लोगों को इधर-उधर घूमने की छूट मिल गयी थी, पर गोल्डन वीक के दौरान लोगों का उत्साह और जोश चरम पर था। ज़रा अंदाजा लगाइए कि कोरोना के इस दौर में लाखों लोगों ने हवाई सफर किया और बड़ी तादाद में रेल और सड़क मार्ग से भी चीनी पर्यटक घूमने निकले।  

परिवहन मंत्रालय के अनुसार छुट्टियों के शुरुआती कुछ दिनों में ही नागरिकों ने 379 मिलयन रोड ट्रिप्स की। हालांकि यह पिछले साल की तुलना में करीब 31 फीसदी कम थी। वहीं ट्रेनों ने 108 मिलयन फेरे लगाए और बीजिंग के दो हवाई अड्डों से लगभग 3 मिलयन ट्रिप्स संचालित हुई। 

जाहिर सी बात है जब इतनी बड़ी संख्या में लोग सैर-सपाटे के लिए निकलेंगे तो देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती तो मिलेगी ही। आंकड़ों पर गौर करें तो कोविड-19 महामारी के बाद चीन की जीडीपी विश्व में सबसे तेज़ गति से आगे बढ़ी है। नेशनल डे के अवकाश के दौरान हमने देखा कि पर्यटक स्थलों, ऐतिहासिक महत्व की जगहों व पार्कों आदि में लोगों की खूब भीड़ रही। ऐसा नहीं है कि ये लोग बिना किसी मॉस्क के घूम रहे थे।

 इतनी बड़ी तादाद में घूमने निकले लोग खुद और दूसरों की सुरक्षा का ध्यान रख रहे थे। कहना होगा कि 63 करोड़ से अधिक लोगों का सही ढंग से प्रबंधन करना किसी आश्चर्य से कम नहीं है, वह भी कोविड-19 के खतरे के बीच। लेकिन जैसा चीन अकसर करता आया है, इस बार भी उसने दुनिया को अपने कदमों से चौंकाया है।  

(अनिल पांडेय---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)