arrested for attacking Krishna Dhaba

कृष्णा ढाबे पर हमला करने वाले तीनों आतंकी गिरफ्तार

श्रीनगर के डल गेट इलाके में मशहूर कृष्णा ढाबे के मालिक पर हमले का मकसद विदेशी राजनियकों के प्रतिनिधिमंडल के कश्मीर पहुंचने से पहले स्थानीय लोगों और पर्यटकों में डर की भावना पैदा करना था। हाल ही में आतंकी संगठनों में शामिल हुए 3 नए आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर हमले में प्रयोग की गई पिस्टल और बाइक को बरामद कर लिया है। इस हमले के मामले को श्रीनगर और अनंतनाग पुलिस ने सुलझाया। 

इस बारे में जानकारी देते हुए कश्मीर संभाग के आई.जी.पी. विजय कुमार ने बताया कि हमले के तुरंत बाद आतंकियों को पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा जांच टीम का गठन किया गया था। इसी दौरान किसी व्यक्ति ने पुलिस को सूचना दी कि इस हमले में शामिल आतंकी एक बाइक पर सवार होकर आए थे। सी.सी.टी.वी. फुटेज खंगालने के बाद पुलिस ने बाइक का नंबर पता कर 2 युवकों को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से एक पिस्टल और हमले में प्रयोग की गई बाइक बरामद की गई। 

उनके खुलासे पर एक और युवक को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में खुलासा हुआ कि तीनों हाल ही में आतंकी संगठन में शामिल हुए थे और एक युवक को पहलगाम के जंगलों में पिस्टल चलाने की ट्रेनिंग दी गई थी। 2 आतंकी पंपोर जबकि एक पुलवामा का रहने वाला था। आई.जी. ने बताया कि तीनों युवाओं को लश्करए-तैयबा या द रजिस्ट्रेंट फ्रंट के कमांडर गाजी द्वारा कृष्णा ढाबे पर हमला करने का काम सौंपा गया था। क्योंकि इस सीजन में ढाबे पर पर्यटकों की काफी भीड़ होती है। उन्होंने बताया कि तीनों आतंकियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। इस मामले को पुलिस ने 24 घंटे से भी कम समय में सुलझा लिया। उन्होंने बताया कि पर्यटकों की भारी आमद को देखते हुए घाटी में सुरक्षा तंत्र को मजबूत किया जाएगा और भीड़भाड़ वाले इलाकों में निगरानी बढ़ाने के साथ सुरक्षाबलों की तैनाती भी की जाएगी। 



Live TV

Breaking News

Loading ...