UN Coordinator

यूएन समन्वयकः चीन ने विश्व गरीबी उन्मूलन में दिया व्यापक योगदान

चीन स्थित यूएन के नये समन्वयक सिद्धार्थ चटर्जी ने 1 मार्च को शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के पत्रकार के साथ विशेष साक्षात्कार में कहा कि चीन के गरीबी उन्मूलन में प्राप्त उपलब्धियों ने विश्व गरीबी उन्मूलन कार्य में बड़ा योगदान दिया है। साथ ही अन्य विकासमान देशों के गरीबी से छुटकारा पाने की मिसाल भी पेश की है। 

चटर्जी ने कहा कि पिछले 8 वर्षों के अनवरत प्रयास के बाद चीन के ग्रामीण क्षेत्रों की 10 करोड़ गरीबी आबादी ने गरीबी से छुटकारा पाया। इस क्षेत्र में चीन के अनेक अनुभव हैं, जो विश्व के अन्य देशों के काम आ सकते हैं। चीन में प्राप्त उपलब्धियों का श्रेय सीपीसी पार्टी की नेतृत्व शक्ति और चीन सरकार व चीनी जनता के संकल्प को जाता है। शक्तिशाली नेतृत्व शक्ति और दृढ़ राजनीतिक इरादा होने से सब नामुमकिन बातें संभव बन सकती हैं। 1.4 खरब आबादी वाला चीन इसे पूरा कर सकता है, विश्व के बाकी देश भी इसे पूरा कर सकते हैं।

चटर्जी के मुताबिक वे पहली बार चीन आये और हवाई अड्डे पर चीन के संबंधित विभागों के सख्त कदमों को देखा। उनका मानना है कि सख्त कदम कोविड-19 के सीमा पोर्ट से देश में फैलने से रोकने के लिए अति महत्वपूर्ण है। यदि विश्व के हरेक देश में सख्त अलगाव, जांच करने और ट्रैकिंग प्रणाली होती, तो हम पहले ही इस महामारी को समाप्त कर सकते थे। इस क्षेत्र में चीन ने हमारे लिए एक मिसाल स्थापित की है।

साक्षात्कार के अंत में चटर्जी ने कहा कि कोविड-19 ने विश्व अर्थतंत्र को बड़ा झटका दिया है। विश्व के विभिन्न देशों को अनवरत विकास के लक्ष्य के लिए हाथ मिलाकर प्रयास करना चाहिए। स्वास्थ्य, मौसम और आर्थिक समृद्धि विश्व की स्थिरता और शांति से संबंधित है। हालिया दुनिया में एकतरफावाद का कोई रास्ता नहीं है। बहुपक्षीयवाद को वैश्विक समस्याओं का हल करने का सही विकल्प होना चाहिए।
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)



Live TV

-->
Loading ...