Roadways employees, salary

वेतन के लिए प्रदर्शन को मजबूर उत्तराखंड रोडवेज के कर्मचारी

देहरादून : उत्तराखंड परिवहन निगम की हालत इन दिनों बेहद खस्ताहाल है। लॉकडाउन में थमे बस के पहियों से हुए नुकसान से निगम अभी तक उबर नहीं पाया है। हालात ये हैं कि परिवहन निगम के कर्मचारियों को पिछले 4 महीनों से वेतन नसीब नहीं हुआ है। बिना वेतन के काम कर रहे परिवहन निगम के कर्मचारियों के सामने आर्थिक संकट आ खड़ा हुआ है और उन्हें आजीविका चलाने में कठिनाई का सामना करना पढ़ रहा है। नतीजतन कर्मचारियों ने परिवहन निगम और सरकार के खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया है। 

परिवहन निगम के कर्मचारियों की ओर से किए जा रहे प्रदेश व्यापी आंदोलन में आज आईएसबीटी देहरादून और रोडवेज वर्कशॉप पर कर्मचारियों ने धरना देते हुए जमकर नारेबाजी की। धरनारत कर्मचारियों ने प्रबंधन पर कर्मचारियों की अनदेखी का आरोप लगाया। कर्मचारी यूनियन के प्रदेश महामंत्री रविनंदन कुमार ने कहा कि रोडवेज कर्मचारियों को 4 महीने से वेतन नहीं मिला है। इसके अलावा पदोन्नति, 2 टायर व्यवस्था लागू करने समेत अन्य कई मांगे लंबे समय से चली आ रही है, लेकिन निगम की ओर से कर्मचारियों की अनदेखी की जा रही है। इसके चलते प्रदेश भर में चरणबद्ध ढंग से दो दिवसीय धरना दिया जाएगा। इसके बाद में 27 अक्टूबर से सभी मंडलीय कार्यालयों पर क्रमिक अनशन शुरू किया जाएगा।