Human rights issues

अपने मानवाधिकार मुद्दों का हल निकालें पश्चिमी देश

24 फरवरी को जिनेवा में स्थित चीन के स्थायी प्रतिनिधि छन श्यू ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 46वें सत्र की उच्च-स्तरीय बैठक में बहस के दौरान भाषण दिया। उन्होंने संबंधित पश्चिमी देशों से मानवाधिकार मुद्दे के बहाने अन्य देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप रोकने और अपने स्वयं की मानवाधिकार समस्या के समाधान के लिए ईमानदार प्रयास करने का आग्रह किया।

छन श्यू ने कहा कि इस उच्च स्तरीय बैठक के दौरान ब्रिटेन, यूरोपीय संघ, जर्मनी, अमेरिका, कनाडा आदि ने चीन के खिलाफ आधारहीन आरोप लगाने और चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए मानवाधिकार परिषद के मंच का दुरुपयोग किया। चीन इसका कड़ा विरोध करता है।

उन्होंने कहा कि चीन अपने नागरिकों को बेहतर जीवन देने को अपना मेहनत करने का लक्ष्य मानता है। चीन आर्थिक, सामाजिक और नागरिकों के सांस्कृतिक अधिकारों व राजनीतिक अधिकारों के व्यापक और समन्वित विकास को बढ़ावा देने का प्रयास करता है और गरीबी उन्मूलन में महान उपलब्धियां हासिल की हैं।

चीन के 1.4 अरब लोग देश के स्वामी हैं, शांति और संतोष में रहते हैं और काम करते हैं, निष्पक्षता, न्याय, विकास और समृद्धि साझा करते हैं। देश भर के सभी जातीय समूहों के लोग एकजुट होकर आधुनिक समाजवादी देश के व्यापक निर्माण की नई यात्रा की ओर बढ़ रहे हैं। यही सबसे बड़ी मानव अधिकार उपलब्धि है।

छन श्यू ने यह भी कहा कि कुछ देश शिनच्यांग, तिब्बत, हांगकांग आदि के बारे में आधारहीन अफवाहें फैलाते हैं और दुर्भावनापूर्ण ढंग से चीन को बदनाम करते हैं। उनकी न्याय और नैतिकता का उल्लंघन करने वाली कार्रवाई को लेकर चीनी लोगों में तीव्र आक्रोश है। उन्होंने जो कुछ किया है, उससे यह स्पष्ट होता है कि मानवाधिकार राजनीतिक हेरफेर के लिए एक साधन के अलावा और कुछ नहीं है।
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )




Live TV

-->
Loading ...