Hong Kong

70 देशों ने क्यों समान रूप से चीन के हांगकांग संबंधी रूख का समर्थन किया ?

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 46वें सम्मेलन के दौरान 5 मार्च को बैठक आयोजित हुई, जिसमें बेलारूस ने 70 देशों की ओर से संयुक्त भाषण दिया और हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में चीन की “एक देश, दो व्यवस्थाओं” वाली नीति के समर्थन को दोहराया और बल देते हुए कहा कि हांगकांग मामला चीन का अंदरूनी मामला है, और बाहरी जगत को इस में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। इसके अलावा, 20 से अधिक देशों ने मानवाधिकार परिषद के सम्मेलन में व्यक्तिगत भाषण के माध्यम से हांगकांग संबंधी चीन के रूख और कदमों का समर्थन जताया।  
अधिकाधिक देशों ने न्याय की आवाज बुलंद की, जो पूरी तरह से प्रदर्शित करता है कि चीन की हांगकांग संबंधित नीतियों को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा व्यापक रूप से मान्यता दी गई है। चीन के विकास को रोकने के लिए जो चीन विरोधी पश्चिमी ताकतों के पास "हांगकांग कार्ड" का उपयोग कर बुरी कार्रवाई करने का स्थान घट रहा है। 
हांगकांग चीन की केंद्रीय सरकार के अधिकृत एक विशेष प्रशासनिक क्षेत्र है। इसके आंतरिक मामलों में बाहरी बलों का हस्तक्षेप चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप ही है, जो संयुक्त राष्ट्र चार्टर की भावना और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी मानदंडों का गंभीर उल्लंघन है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की बैठक में 70 देशों ने चीन के हांगकांग संबंधी रुख और कदमों का संयुक्त रूप से समर्थन करना संयुक्त राष्ट्र चार्टर और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के मानदंडों के लिए सम्मान और रखरखाव है।

हांगकांग में "एक देश, दो व्यवस्थाओं" के चीन के कार्यान्वयन के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का समर्थन भी हांगकांग के वास्तविक विकास पर आधारित है। बाहरी दुनिया ने देखा है कि हांगकांग की मातृभूमि में वापसी के बाद से लेकर अब तक, केंद्र सरकार के मजबूत समर्थन के चलते उस ने एक अंतरराष्ट्रीय मुक्त बंदरगाह और एक अकेले सीमा शुल्क क्षेत्र के रूप में अपना स्थान बनाए रखा है, और दुनिया के लिए उभय जीत के सहयोग वाले अवसरों को लाया है। यह पूरी तरह से साबित करता है कि "एक देश, दो व्यवस्थाएं" हांगकांग में उसकी वापसी के बाद दीर्घकालिक समृद्धि और स्थिरता बनाए रखने के लिए सबसे अच्छी संस्थागत व्यवस्था है।

हाल के वर्षों में अधिकाधिक देशों ने अंतर्राष्ट्रीय अवसरों पर बात करते हुए पश्चिमी देशों के हांगकांग मुद्दों के माध्यम से चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का विरोध किया है, और चीन के संबंधित रुख और कदमों का समर्थन किया है। पिछले साल जून में, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 44वें सत्र में, क्यूबा ने 50 से अधिक देशों की ओर से एक संयुक्त भाषण देते हुए हांगकांग राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को पारित करने के लिए चीनी कानून निर्माण संस्था का समर्थन किया। पिछले साल अक्टूबर में, 75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की तीसरी समिति की आम बहस के दौरान 57 देशों ने हांगकांग संबंधित मुद्दों पर चीन के लिए एक संयुक्त समर्थन पर हस्ताक्षर किए। इस बार, और अधिक देशों ने चीन के हांगकांग संबंधित रूख और कदमों का समर्थन किया है 

इन दिनों पेइचिंग में चीन के सर्वोच्च प्राधिकरण का वार्षिक सम्मेलन हो रहा है। महत्वपूर्ण एजेंडों में से एक हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की चुनाव प्रणाली में सुधार के मसौदे के निर्णय की समीक्षा करना है। अगर इसे पारित किया गया, तो हांगकांग की वर्तमान चुनावी प्रणाली में खामियों को मौलिक रूप से ठीक करने की उम्मीद की जाती है, और यह सुनिश्चित हो सकता है कि हांगकांग का शासन देशभक्तों के हाथों में है। यह हांगकांग की दीर्घकालिक स्थिरता के लिए मजबूत संस्थागत समर्थन प्रदान करेगा और "एक देश, दो व्यवस्थाओं" के स्थिर और दीर्घकालिक विकास को सुनिश्चित करेगा। और साथ ही साथ, यह अनिवार्य रूप से हांगकांग की समृद्धि और विकास के अवसरों को बेहतर ढंग से साझा करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए अनुकूल स्थिति तैयार कर सकेगा।
(साभार-चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)




Live TV

-->
Loading ...