Young man , shot dead

बंगा में पुरानी रंजिश के चलते फिलीपींस से लौटे युवक की गोली मार कर हत्या

बंगा : गांव गोबिंदपुर के एक युवक की देर रात गांव हीओं में हत्या कर दी गई। पुलिस ने मृतक युवक के पिता के बयान पर तीन युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। मृतक की पहचान गांव गोबिंदपुर के रहने वाले सुरजीत सिंह के रूप में हुई है। गांव गोबिंदपुर के जसवंत सिंह ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उनका बेटा सुरजीत सिंह एक साल पहले ही फिलीपींस से लौटा था। वह दो महीनों से किसानी संघर्ष के लिए दिल्ली में आता-जाता रहा है। उनके बेटे ने उन्हें बताया था कि गांव हीओं का रहने वाला मटरू उसे बस अड्डे पर मिला और उसने गाली-गालोच की और धमकाया। बेटे ने कहा कि मटरू को सबक सिखाना है। उन्होंने सुरजीत को शांत रहने को कहा था। 


उन्होंने बताया कि सोमवार दोपहर करीब ढाई बजे सुरजीत सिंह जीप में घर आया, उसके साथ उसके दो दोस्त जसकरन सिंह, गुरमीत सिंह और शुभम था सुरजीत व तीनों लड़के अलग कमरे में सो गए। उन्हें पता नहीं चला, वे चारों किस समय जीप में कहीं चले गए। देर रात करीब पौने 3 बजे डोर बैल बजी और जोर से गेट की आवाज आई। उन्होंने गेट खोला तो शुभम जीप लेकर आया और कहने लगा कि गांव हीओं में लखविंदर सिंह उर्फ मटरू ने सुरजीत को गोली मार दी है। वे सभी वहां से भाग आए। पीछे वे तीनों घर में जीप खड़ी करके चले गए। जसवंत सिंह ने बताया कि वे पड़ोसियों व रिश्तेदारों को इस घटना की जानकारी देकर मटरू के गांव चले गए। उन्होंने देखा, वहां काफी संख्या में गोलियों के खोल और ईंटें बिखरी थीं और खून के निशान भी थे। उन्हें वहीं पर पता चला कि सुरजीत को सिविल अस्पताल बंगा में भेज दिया गया है। जहां उन्हें उसकी मौत की सूचना मिली है। उन्हें पता चला है कि उनके बेटे को मटरू ने अपने भाई गुरप्रीत सिंह और गांव के ही सन्नी उर्फ धत्तू ने गोलियां मारकर व तेजधार हथियारों से हमला करके उसकी हत्या की है।  एसएचओ विजय कुमार ने बताया कि पुलिस जांच कर रही है कि मृतक युवक रात के समय गांव हीओं कैसे व क्यों पहुंचा, शव का पोस्टमार्टम होने के बाद ही पता चल पाएगा कि उसके शरीर में कितनी गोलियां लगी है और आगे की करवाई की जाएगी।  



Live TV

-->
Loading ...