sadness, heart

दिल से बल्कि दिमाग से है आपकी उदासी का रिश्ता

जब भी हम उदास होते हैं तब यही कहते हैं की आज हमारा दिल नहीं या आज हमारा दिल बहुत उदास है। सभी को यही लगता है की जब हम उदास होते हैं तो उसमें दिल का कसूर है लकिन ऐसा नहीं है। जी हाँ, हम उदास दिल से नहीं बल्कि मस्तिष्क से होते हैं। आपको शयद जान कर हैरानी हो रही होगी लेकिन ये सच है। अपनी उदासी के लिए अक्सर हम किस्मत को जिम्मेदार ठहराते हैं। 

हकीकत में इसके पीछे कोई और नहीं बल्कि मस्तिष्क में मौजूद दो रसायन- डोपामिन और सेरोटोनिन जिम्मेदार हैं। डोपामिन रसायन जहां हमारे मूड के स्तर को संतुलित रख हमें अवसाद से बचाता है, वहीं सेरोटोनिन शांति और भावनात्मक स्तर पर ठीक रहने के लिए महत्वपूर्ण है. यह हमारे आत्मविश्वास के स्तर को भी बढ़ाता है। 

यही महत्वपूर्ण रसायन हमारे शरीर की प्रतिकूल स्थितियों के लिए भी जिम्मेदार होते हैं। इनके स्तर में उतार-चढ़ाव ही हमारे स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव के लिए जिम्मेदार होता है. अवसाद के कारण चिंता, तनाव, भ्रम, माया जैसे विचार उत्पन्न हो जाती हैं। 



Live TV

Breaking News

Loading ...