Omprakash Chautala

मानहानि मामले में ओमप्रकाश चौटाला अदालत में पेश हुए

गुड़गांव: हरियाणा के पूर्व सीआईडी अधिकारी  की ओर से दाखिल मानहानि के एक मामले में पूर्व मुख्यमंत्री औेर इंडियन नेशनल लोकदल सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला आज अदालत में पेश हुए। ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट सोनिया श्योकंद की अदालत में सुनवाई के दौरान चौटाला अदालत में पेश हुए। अदालत ने उन पर चार्ज फ्रेम कर दिए हैं। अदालत ने प्रकरण में तीन आरोपियों के अदालत में पेश न होने पर पर 10-10 हजार रुपए की कॉस्ट लगाई और आदेश दिए कि सभी आरोपी आगामी 15 फरवरी को अदालत में पेश हों। 

मामले में कुल 34 आरोपी थे, जिनमें से एक आरोपी को अदालत पहले ही भगौड़ा घोषित कर चुकी है और एक आरोपी की मौत हो चुकी है, जबकि 3 आरोपियों को अदालत चार्ज लगने से पहले ही इस मामले से निकाल चुकी है। अब 29 आरोपी ही इस मामले में बचे हैं, जिनमें से तीन को छोड़कर अन्य सभी आरोपियों पर अदालत चार्ज फ्रेम कर चुकी है।

2008 में इनेलो व कुछ अन्य राजनैतिक दलों के नेताओं ने प्रेसवार्ताओं का आयोजन कर प्रदेश के तत्कालीन सीआईडी प्रमुख आईजी पीवी राठी पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने पंचकूला के एक चिकित्सक को निर्धारित मानदंडों की पालना न करते हुए सुरक्षा उपलब्ध कराई है, जोकि गलत है।

इन नेताओं ने तत्कालीन प्रदेश सरकार से मांग की थी कि सीआईडी प्रमुख के खिलाफ कार्यवाही की जाए। सीआईडी प्रमुख ने इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला, अभय चौटाला, हजकां के कुलदीप बिश्नोई (अब कांग्रेस में) व कुछ पत्रकारों सहित 34 लोगों के खिलाफ मानहानि का मामला गुड़गांव की अदालत में दायर कराया था। तभी से इस मामले में सुनवाई चल रही है।