इंडियन वेल्स में नडाल ने अल्कराज को हराया, अब फाइनल में फ्रिट्ज से होगा सामना

Spread the News

इंडियन वेल्स में तीन बार के चैंपियन, दुनिया के चौथे नंबर के राफेल नडाल को यहां चौथा खिताब जीतने का मौका मिलेगा, जब वह फाइनल में अमेरिकी टेलर फ्रिट्ज से भिड़ेंगे, क्योंकि स्पैनियार्ड ने रविवार को बीएनपी परिबास ओपन में अंतिम-चार के मुकाबले में देश के साथी कार्लोस अल्कराज को 6-4, 4-6, 6-3 से हरा दिया। घरेलू पसंदीदा फ्रिट्ज ने सातवीं वरीयता प्राप्त रूस के एंड्री रुबलेव को 7-5, 6-4 से हराकर स्पेनिश दिग्गज के साथ खिताबी मुकाबले में जगह बनाई। 18 वर्षीय अल्कराज ने दिखाया कि वह टेनिस का भविष्य क्यों है, नडाल को तेज हवाओं में खेले गए तीन घंटे और 12 मिनट के मुकाबले में कठिन समय दिया। यह इंडियन वेल्स में नडाल की पांचवीं अंतिम उपस्थिति होगी।

नडाल ने एटीपीटूर के हवाले से कहा कि मैं फाइनल में पहुंचकर बेहद खुश हूं। यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है और मैं बस अच्छा करता रहना चाहता हूं। मेलबर्न एटीपी 250,ऑस्ट्रेलियन ओपन और अकापुल्को (मेक्सिको) में खिताब के साथ नडाल ने सीजन की व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 20-0 की शुरुआत की। अगर चौथी वरीयता प्राप्त खिताबी मुकाबले में फ्रिट्ज को हरा देते हैं, तो वह नोवाक जोकोविच को 37 के साथ इतिहास में सबसे अधिक एटीपी मास्टर्स 1000 खिताब जीतने वाले खिलाड़ी होंगे।

नडाल ने कहा कि मैंने इसे एक और सेमीफाइनल मैच की तरह लिया। वह (अल्काराज) एक युवा खिलाड़ी नहीं है, वह पहले से बेहतर करते आ रहे हैं। वह पहले से ही एक शीर्ष खिलाड़ी है, इसलिए मैंने इसे इस तरह से माना, जो कि सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक के खिलाफ खेल रहा हूं।’’ इस बीच, 20वीं वरीयता प्राप्त फ्रिट्ज 2012 के बाद से रुबलेव पर सेमीफाइनल जीत के बाद इंडियन वेल्स फाइनल में पहले अमेरिकी व्यक्ति बन गए। फ्रिट्ज ने कहा कि मुझे यकीन नहीं हो रहा कि मैं फाइनल में पहुंच गया हूं और नडाल के साथ में खेलूंगा। यह वास्तविक भी नहीं लगता है। मैं बस इस पल को लेने, फिर से संगठित होने और फाइनल के लिए कल वापस आने की कोशिश कर रहा हूं। लेकिन यह एक सपने के सच होने जैसा है।’’