ITBP ने जीती राष्ट्रीय Ice Hockey Tournament

Spread the News

शिमला : लाहौल स्पीति जिला के काजा में खेली जा रही 11वीं राष्ट्रीय आईस हॉकी प्रतियोगिता आज समाप्त हो गई। प्रतियोगिता के समापन समारोह में तकनीकी शिक्षा मंत्री डा. राम लाल मारकंडा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। फाइनल मुकाबला आईटीबीपी व आर्मी की टीमों के मध्य खेला गया। फाइनल में आईटीबीपी ने सेना को 3 के मुकाबले एक गोल से पराजित किया। समापन समारोह को संबोधित करते हुए डा. मारकंडा ने कहा कि प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले सभी खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया। प्रतियोगिता में हार जीत चली रहती है। लेकिन खेल को खेल भावना से ही खेला गया है, जो टीम इस बार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए है। वे प्रण ले कई आगामी खेलों में विजय परचम लहराएंगे। विजेता आईटीबीपी और उप विजेता आर्मी की टीमों के खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी।

उन्होंने कहा कि लद्दाख के बाद स्पिति को आईस हॉकी का हब बनाएंगे। यहां पर 37 लाख रूपए की लागत से विदेश से डेशबोर्ड लगावाएं गए है। आईस हॉकी एसोसियेशन से आग्रह कि भविष्य में भी इसी तरह के आयोजन के आयोजन में स्पिति को प्राथमिकता देते रहे। हम यहां पर हाई एल्टीटयूड स्पोर्ट्स सेंटर और इंडोर आइस हॉकी रिंक बनाने जा रहे है। जिसमें हॉस्टल की सुविधा भी होगी। उन्होंने घोषणा कि जल्द ही रिंक को पक्का किया जाएगा और छत लगाने का कार्य सबसे पहले होगा ताकि बर्फबारी के दौरान भी रिंक बर्फ से न भरें। इसके अलावा जल्द ही रिंक के चारों तरफ स्टेडियम बनाया जाएगा। प्रदेश सरकार के प्रयास से काजा में 22 खिलाड़ियों और कोच के लिए 26 लाख रुपए की किट मुहैया करवाई गई है। कौशल विकास निगम के तहत स्पिति के युवाओं को टूरिस्ट गाइड का प्रशिक्षण दिया जाएगा। स्पिति के युवाओं स्कींग को प्रशिक्षण दिया जाएगा। 2009-10 में तत्कालिक मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के स्पिति राफ्टिंग करने की अनुमति मिली थी। अब यहां फिर से राफ्टिंग शुरू की जाएगी।

स्पिति में कई वर्ष पुरानी एअर स्ट्रीप की चर्चा थी। लेकिन हमने भूमि चयन कर लिया है और प्रयासरत है कि इसी वर्ष भूमि का अधिग्रहण संभव हो सके। ताकि पर्यटक और खिलाड़ी हवाई सुविधा के माध्यम से यहां पर पहुंच सके। उन्होंने काजा यूथ क्लब के सदस्यों को आईस हॉकी में अग्रिम भूमिका निभाने के लिए काजा से परांगला दर्रा होते हुए लदाख तक भ्रमण दल भेजा जाएगा। रंगरिक और किब्बर महिला मंडल को सांस्कृतिक प्रस्तुति पेश करने के लिए दस दस हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की। समोराह में एडीएसी अभिषेक वर्मा ने मुख्यातिथि को थंका पेटिंग और भगवान बुद्ध की प्रतिमा देकर स मानित किया। वहीं एसडीएम गुंजीत सिंह चीमा ने आईस हॉकी एसोसियेशन आफ इंडिया के महासचिव हरजींद्र सिंह जींदी को सम्मानित किया। एडीसी अभिषेक वर्मा, टीएसी सदस्य राजेंद्र बौद्ध पालजोर को आईस हॉकी एसोसियेशन आफ लाहुल स्पिति के सदस्यों ने सम्मानित किया। आईस हॉकी एसोसियेशन ऑफ इंडिया के महासचिव हरजींद्र सिंह जींदी ने मुख्यातिथि डा राम लाल मारकंडा को एसोसियेशन की टरफ से टोकन देकर सम्मानित किया। इस मौके पर किब्बर और रंगरीक महिला मंडल ने पारंपरिक लोक नृत्य पेश किया। प्रतियोगिता के फाइनल के पहले दो हाफ में आईटीबीपी की टीम ने दो गोल दागे जबकि आर्मी की टीम एक भी गोल नहीं कर पाई।

वहीं अंतिम हाफ में आर्मी की टीम ने एक गोल किया और मैच में वापिसी करने का प्रयास किया। लेकिन आइटीबीपी ने फिर एक गोल कर दिया और आर्मी की टीम फिर अंतिम क्षण तक अन्य गोल नहीं कर पाई। लद्दाख की टीम प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीतने में कामयाब रही। एसडीएम गुंजीत सिंह चीमा ने कांस्य पदक विजेता व एडीसी अभिषेक वर्मा ने रजत पदक विजेता सेना की टीम को मैडल पहना कर सम्मानित किया। गोल्ड मैडल मुख्यातिथि डा राम लाल मारकंडा ने आईटीबीपी की टीम को पहनाकर स मानित किया। विजेता और चैम्पियनशिप ट्राफी महासचिव हरजींद्र सिंह जींदी ने आर्मी की टीम को दी।

65 सोलर लाइट की वितरित

कार्यक्रम में बीपीएल परिवारों से संबंध रखने वाले 13 पंचायतों के पात्र 65 लाभार्थियों को सोलर लाइन पैनल सहित दिए गए। मुख्यातिथि डा राम लाल मारकंडा ने सभी लाभार्थियों को सोलर लाइट वितरित किए।