पंजोआ में श्रद्धालुओं से भरा ट्रक पलटा, 2 की मौत, 30 घायल, मैडी में माथा टेककर वापस तरनतारन जाते समय हुआ हादसा

Spread the News

ऊना/अम्ब: जिला के डेराबाबा बड़भाग सिंह मैडी से माथा टेककर वापस घर तरनतारन पंजाब जा रहे श्रद्धालुओं से भरा ट्रक अनियंत्रित होकर पंजोआ के पास पलट गया। हादसे में दो श्रद्वालुओं की मौत हो गई है, जबकि 30 श्रद्धालु घायल हो गए हैं। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों की पहचान जगतार सिंह (42) निवासी मुरादपुर, तहसील तरनतारन, जिला गुरदासपुर व राज कौर (40) पत्नी रणजीत सिंह निवासी मुरादपुर, तहसील तरनतारन, जिला गुरदासपुर पंजाब के रूप में हुई है। दुर्घटना में 30 से अधिक गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए पहले अम्ब अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां पर कई घायलों को आगामी उपचार के लिए ऊना के क्षेत्रीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं सूचना मिलते ही प्रशासन व पुलिस के आला अधिकारी दुर्घटनास्थल पर पहुंचे, स्थानीय लोगों ने जब ट्रक खाई में पलटा देखा तो बचाव कार्य शुरू किए। जिन्हें कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया।

वहीं हादसे के बाद ऊना सदर के विधायक सतपाल रायजादा ने क्षेत्रीय अस्पताल पहुंचकर घायलों का कुशलक्षेम जाना। उन्होंने हादसे पर दु:ख जताया और कहा कि हादसे में घायलों की पूरी तरह से मदद की जाएगी। मालवाहक वाहनों पर पाबंदी के बावजूद नहीं रूक रहे श्रद्धालु : जिला प्रशासन ने मैडी मेला शुरू होने से पहले मालवाहक वाहनों में श्रद्धालुओं के सफर करने पर पूर्णतया पाबंदी लगाई थी। उपायुक्त राघव शर्मा ने श्रद्धालुओं से भरे मालवाहक वाहनों को हिमाचल के प्रवेश द्वार पर ही रोकने के आदेश जारी किए थे।

आदेशों की अवहेलना करने पर भारी भरकम जुर्माने का प्रावधान किया था। लेकिन पड़ोसी राज्य पंजाब प्रशासन द्वारा पूरा सहयोग न मिलने के कारण श्रद्धालु बिना रोकटोक मालवाहक वाहनों में पहुंचना शुरू हो गए।प्रशासन ने सख्ती दिखाई और श्रद्धालुओं से भरी मालवाहक गाड़ियों को हिमाचल की सीमा में घुसने नहीं दिया और वापिस लौटा दिए जबकि मेले से पहले ऊना प्रशासन के साथ पंजाब राज्य के उच्च अधिकारियों के साथ कई बैठकों का दौर होता है और मालवाहक गाड़ियों में श्रद्धालुओं के आने पर रोक लगाने का वायदा किया जाता है।