दुनिया की नंबर वन महिला टेनिस खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने 25 साल की उम्र में लिया सन्यास

Spread the News

क्वींसलैंड: दुनिया की नंबर वन महिला टेनिस खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने सबको चौंकाते हुए महज 25 साल की उम्र में टेनिस से रिटायरमेंट लेने का ऐलान किया है। तीन बार की ग्रैंडस्लैम की चैंपियन रह चुकीं एश्ले ने इसका ऐलान अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर कर किया है। अपने वीडियो के कैप्शन में उन्होंने लिखा है कि आज का दिन मेरे लिए कठिन और भावनाओं से भरा है क्योंकि मैं टेनिस से रिटायरमेंट लेने की घोषणा कर रही हूं। मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि आपके साथ इस खबर को कैसे साझा करुं इसलिए मैंने अपनी अच्छी दोस्त डेलाक्वा से मेरी मदद करने के लिए कहा।

एश्ले ने कहा कि इस खेल ने मुझे जो कुछ भी दिया है उसके लिए मैं बेहद आभारी हूं और गर्व महसूस कर रही हूं। इस सफर में मेरा साथ निभाने वाले सभी लोगों को धन्यवाद। मैं हमेशा उन यादों के लिए आभारी रहूंगी जो हमने साथ में बनाई हैं।‘‘ साल 2010 में टेनिस में अपना पेशेवर करियर शुरु करने के बाद एश्ले ने अपने इस छोटे से करियर में 15 एकल और 12 युगल खिताब जीते हैं। वह इस कम समयावधि में 15 या अधिक एकल खिताब और 10 या अधिक युगल खिताब जीतने वाली एकमात्र खिलाड़ी हैं।

एश्ले ने अपने करियर में तीन ग्रैंड स्लैम जीते- सबसे पहले साल 2019 में फ्रेंच ओपन अपने नाम किया, 2021 में विंबलडन और हाल ही में इसी साल ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब भी जीता। वह डब्ल्यूटीए की रैंकिंग में कुल 121 हफ्ते तक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनी रहीं। इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में उनकी जीत ने इतिहास रचा है क्योंकि वह 44 साल में अपने देश की मिट्टी पर ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाली पहली ऑस्ट्रेलियाई महिला खिलाड़ी बनी थीं।

वह डब्ल्यूटीए की रैंकिंग में शीर्ष पर रहते हुए सेवानिवृत्त होने वाली विश्व की दूसरी महिला खिलाड़ी बन गई हैं। इससे पहले, शीर्ष पर रहते हुए लगातार 61 सप्ताह बिताने के बाद जस्टिन हेनिन 14 मई 2008 को रिटायर हुई थीं। उल्लेखनीय है कि एश्ले का एकल में 305-102 और युगल में 200-64 का रिकॉर्ड है।