सतलुज दरिया से BSF ने पकड़ी पाकिस्तानी नाव, जवानों ने चलाया तलाशी अभियान

Spread the News

बीएसएफ ने सतलुज दरिया के जरिए आई पाकिस्तान की नाव को पल्ला मेघा गांव से बरामद की है, जहां कई तस्कर सक्रिय हैं। अब जवान पूरे इलाके को खंगालने में जुटे हैं। यह गांव नशे की सप्लाई और तस्करों के नाम से जाना जाता है। गौरतलब है कि पिछले साल भी सीमांत गांव से गुजरने वाले सतलुज दरिया से चार पाक नाव मिली थीं, लेकिन बीएसएफ और खुफिया एजेंसी अब तक यह सुराग नहीं लगा पाई हैं कि पाकिस्तान से नाव भारतीय क्षेत्र में कौन लेकर आता है।

खुफिया सूत्रों के मुताबिक, वसंत पंचमी की सुबह बीएसएफ बटालियन 136 के जवान बीओपी मोहम्मदीवाला के पास फेंसिंग के साथ-साथ गश्त कर रहे थे। इस दौरान सीमांत गांव पल्ला मेघा के पास से गुजरने वाले सतलुज दरिया में पड़ी लकड़ी की एक पुरानी पाक नाव नजर आई। नाव की लंबाई करीब 15 फुट है। सूत्रों का कहना है जिस पल्ला मेघा गांव के पास पाक नाव मिली है, वहां पर कई तस्कर सक्रिय हैं जिनके संबंध पाक तस्करों से हैं। कुछ दिनों पहले ही काउंटर इंटेलीजेंस ने पाक से पांच किलो हेरोइन मंगवाने के आरोप में एक तस्कर को काबू किया है, उसका भी उक्त गांव से संबंध था। काउंटर इंटेलीजेंस को कुछ माह पहले सीमांत गांव टिंडी वाला से पाक नाव मिली थी। वहीं, जिस जगह पाक नाव मिली थी, वहां से कुछ लोगों के पांव के निशान भी मिले थे। नाव में भी उसी पांव के निशान थे। खुफिया एजेंसी उन लोगों के बारे में सुराग नहीं लगा पाई वे कौन लोग थे।