Audi इंडिया की और ब्रांड लाकर बाजार विकसित करने की योजना

Spread the News

कोलकाता : जर्मनी की लग्जरी कार विनिर्माता कंपनी ऑडी ने और अधिक ब्रांड के जरिए भारत में अपने बाजार को विकसित करने की योजना बनाई है। ऑडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लों ने शुक्रवार कहा, कंपनी, फॉक्सवैगन समूह का हिस्सा है और वर्तमान में भारत में चार कारों, दो एसयूवी और दो सेडान को असेंबल करती है।

उन्होंने कहा, ‘‘देश में बाजार विकसित करने के लिये हम और ब्रांड लाएंगे और नेटवर्क का भी विस्तार करेंगे। वर्तमान में देश में हमारे पास 60 टचप्वाइंट्स हैं। बिक्री के मामले में तीसरी सबसे बड़ी लग्जरी कार कंपनी ऑडी इंडिया के पास अगले पांच साल के लिए अपने औरंगाबाद संयंत्र में मांग को पूरा करने की पर्याप्त क्षमता है। इन चारों मॉडल को सीकेडी (कंप्लीटली नॉक्ड डाउन) के रूप में लाकर संयंत्र में असेंबल किया जाता है। अन्य मॉडल सीधे आयात किए जाते हैं।

वर्ष 2021 में कंपनी ने 3,293 कारों की बिक्री की। यह 2020 के मुकाबले 101 प्रतिशत अधिक है। ढिल्लों ने कहा कि कई उपकरण यूक्रेन से प्राप्त किए जाते हैं, ऐसे में पूर्वी यूरोप में आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो सकती है। एक सवाल के जवाब में ढिल्लों ने कहा कि कंपनी ने पहले ही भारत में पांच इलेक्ट्रिक वाहन पेश कर चुकी है। ऑडी की योजना 2033 तक सभी पेट्रोल-डीजल पर चलने कारों की बिक्री को रोकना और इलेक्ट्रिक मॉडल की बिक्री को शुरू करने की है।