IPL 2022: क्या ज्यादा खिलाड़ी कोरोना संक्रमित आने पर आईपीएल हो जाएगा रद्द…….?

Spread the News

कोरोना के बीच भारत में कराए जा रहे इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 सीजन थोड़ा अलग होने वाला है. बीसीसीआई ने कोरोना संक्रमण से निपटने और टूर्नामेंट को सफल बनाने के कई प्लान बना रखे हैं. सीजन का आगाज 26 मार्च से होना है. फाइनल 29 मई को होगा. ओपनिंग मैच डिफेंडिंग चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) और कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के बीच खेला जाएगा. पिछले साल कोरोना संक्रमण के कुछ मामले सामने आने के बाद 4 मई 2021 को आईपीएल बीच में ही सस्पेंड कर दिया था. इसका दूसरा हाफ UAE में कराया गया था. इस बार ऐसे ही मामले सामने आए तो क्या प्लान रहेगा. इस बार कुल 10 टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया है. सभी टीमें एक-दूसरे के खिलाफ 14-14 मैच खेलेंगी. इस तरह ग्रुप स्टेज में कुल 70 मैच होंगे. इसके बाद फाइनल समेत 4 प्लेऑफ मुकाबले खेले जाएंगे. ग्रुप स्टेज के सभी मैच मुंबई के वानखेड़े, ब्रेबॉर्न और डीवाई पाटिल स्टेडियम के अलावा पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेलने हैं.

यदि कोरोना के कई मामले सामने आए तब..?

किसी एक मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में कम से कम 7 भारतीय और ज्यादा से ज्यादा 4 विदेशी खिलाड़ी खिलाने होते हैं. एक सब्स्टीट्यूट भी होता है. इस तरह 12 प्लेयर्स की टीम मैच के लिए तैयार करते हैं. यदि कोरोना संक्रमण के कारण किसी टीम का यह बैलेंस गड़बड़ाता है, तो उस स्थिति में मैच को रिशेड्यूल किया जाएगा. यदि किसी कारण से यह संभव नहीं होता है, तो यह पूरा मामला आईपीएल की टेक्निकल कमेटी को भेजा जाएगा. तब कमेटी का फैसला ही मान्य रहेगा. इससे पहले किसी मैच को रिशेड्यूल करने की प्रोसेस नहीं थी. तब यदि कोई टीम प्लेइंग-11 उतारने में सक्षम नहीं होती थी, तो विपक्षी टीम को पॉइंट्स दिए जाते थे.

इस बार बीसीसीआई ने आईपीएल के बायो-बबल में एक बड़ा बदलाव किया है. खिलाड़ियों को इस बार 3 दिन सख्त क्वारंटीन में रहना होगा. उन्हें होटल रूम से निकलने की अनुमति नहीं होगी. हर 24 घंटे में टेस्ट भी होगा. पिछले सीजन तक खिलाड़ियों को 7 दिन रहना पड़ता था. यदि कोई प्लेयर किसी सीरीज में खेलकर एक बायो-बबल से आईपीएल के बायो-बबल में आता है, तो उसे यह नियम फॉलो नहीं करना पड़ेगा.