Shimla में खेल विभाग के सहयोग से खुलेगा Mountain Terrain Biking Center

Spread the News

शिमला : भारतीय खेल प्राधिकरण शिमला में माऊंटेन टेरेन बाइकिंग के प्रशिक्षण के मद्देनजर राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना करेगा। उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना केंद्रीय खेल मंत्रलय व प्रदेश युवा सेवा एवं खेल विभाग के सहयोग से की जा रही है। शिमला में खुलने वाले इस केंद्र में साइकिल मोटोक्रॉस, भारतीय साइकिल चालकों को विश्व स्तरीय प्रशिक्षण सुविधाएं मिलेंगी। केंद्र में प्रशिक्षित होने के बाद देश के साइकिल चालक एमटीबी और बीएमएक्स के विषयों में ऑलंपिक पदक के लिए प्रतिस्पर्धा कर सकें। उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना के मद्देनजर वीरवार को केंद्र व प्रदेश के मध्य एमओयू हुआ। समुद्र तल से 2 हजार मीटर की ऊंचाई पर खुलने वाला यह केंद्र दुनिया में सबसे अच्छी ऊंचाई प्रशिक्षण सुविधाओं में से एक होगा।

केंद्र में विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा, एक अत्याधुनिक खेल विज्ञान उच्च प्रदर्शन केंद्र, ओलंपिक-स्तरीय ट्रैक और कोच होंगे। पहाड़ी इलाकों के लिए खेल की आवश्यकता और प्रशिक्षण के लिए उपयुक्त वातावरण के कारण, शिमला एनसीओई के लिए एक पसंदीदा विकल्प के रूप में उभरा। इस भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) एनसीओई की स्थापना के साथ, हिमाचल भारत में एमटीबी और बीएमएक्स प्रशिक्षण का पथ प्रदर्शक बन गया है। साथ ही साइकिलिंग विषयों के लिए भविष्य की विश्व चैंपियनशिप के लिए एक संभावित स्थल बन गया है। एनसीओईए जिसमें ओलंपिक स्तर की तैयारियों के लिए लगभग 200 साइकिल चालकों को प्रशिक्षित करने की क्षमता होगी।

केंद्र में आभासी प्रशिक्षकों के साथ एक इनडोर सेटअप, 100 एथलीटों, कोचों और सहायक कर्मचारियों के लिए छात्रवास की सुविधा। इसके अलावा इनडोर रिकवरी पूल, स्ट्रीम और सौना, स्ट्रेंथ और कंडीशनिंग हॉल, बायोमेच लैब, फिजियोथेरेपी, एंथ्रोपोमेट्री जैसी अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ खेल विज्ञान के लिए एक उच्च प्रदर्शन केंद्र होगा। एथलीटों को उनके प्रशिक्षण के दौरान उपयोग करने के लिए सांस और लैक्टिक विश्लेषक, हृदय गति मॉनीटर, ट्रेडमिल, साइकिल एर्गोमीटर जैसे उच्च अंत उपकरण भी उपलब्ध होंगे।