महंगाई के खिलाफ उतरी Congress, जिला सचिवालय पर बोला हल्ला

Spread the News

करनाल : देश में भारतीय जनता पार्टी द्वारा पैट्रोल डीजल और रसोई गैस की कीमतों में की गई बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ जिला कांग्रेस के बैनर तले करनाल में भी विधायक शमशेर सिंह गोगी, जिला संयोजक स. त्रिलोचन सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ हल्ला बोला। सरकार विरोधी नारे लगाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया। इसके बाद डीसी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया।

इस अवसर पर कांग्रेस नेताओं ने कहा कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के बाद सरकार ने पैट्रोल डीजल और रसोई गैस की कीमतों में भी बृद्धि कर आम आदमी का जीवन मुहाल कर दिया हैं। इससे रसोई के साथ जीवन का हर पहलू प्रभावित होगा। कांग्रेस इसका देशव्यापी विरोध कर रही हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जनता के मुूद्दों को लेकर आंदोलन करने का रास्ता अपनाया हैं। उन्होंनें कहा कि भाजपा की जनविरोधी नीतियों के कारण आम आदमी की कमर टूट रही हैं।

ज्ञापन में महामहिम राष्ट्रपति से मंहगाई पर नियंत्रण के लिए ठोस कदम उठाने के लिए सरकार को निर्देश देने की मांग की हैं। इस अवसर पर डॉ नवजोत कश्यप, सुरेश मतलौडा, पूर्व रघुवीर सन्धु, राजेन्द्र कल्याण, धर्मपाल कौशिक, ललित बुटाना, राजेन्द्र बल्ला, राजेश चौधरी, डॉ सुनील पंवार, राकेश निम्बरना, सरपंच सतपाल जानी, रानी काम्बोज, गीता शर्मा, निश्चय सोही, होशियार सिंह, मुनीश परवेज राणा, राजवीर सिंह चौहान, संजीव काम्बोज, कर्मपाल सिंह, इंद्रपाल सिंह, मनिंदर सिंह, बसन्त राणा, राज किशन सहगल, परमजीत भारद्वाज पूर्व विधायक रिशाल सिंह, एडवोकेट अम्रत विष्यार, अरुण पंजाबी, गगन मेहता, नरेंद्र जोगा, अमरदीप कादयान, रोहित जोशी, दया प्रकाश, जोगेंद्र वाल्मीकि, प्रकाश वीर, नरेश सन्धु, गोपाल कृष्ण सहोत्र, कृष्ण गहलोत आदि उपस्थित थे।

भाजपा सरकार ने 26 लाख करोड रुपए कमाए लोगों की जेब पर डाका डाल कर : तिरलोचन सिंह

ज्ञापन में कहा गया कि सरकार ने चुनाव जीतने के लिए मंहगाई पर नियंत्रण किया था। चुनाव जीतने के बाद भाजपा के अहंकार ने मंहगाई को जन्म दिया। भाजपा सरकार ने आठ सालों में पैट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी कर 26 लाख करोड़ रुपए की कमाई की हैं। ज्ञापन में कहा गया किे 2014 में कचा तेल 108 रुपए प्रति डालर था। जब कि आज कच्चा तैल 108 रुपए प्रति डालर हैं। लेकिन उस समय पैट्रोल और डीजन 74 रुपए 41 पैसे तथा 55 रुपए 49 पैसे था। लेकिन अब 96 रुपए 21 पैसे तथा 84 रुपए 47 पैसे प्रति लिटर मिल रहा है। एक घरेलू गैस सिलैंडर में 14.2 किया गैस होती है, यदि इसका आधार मूल्य निकाला जाए तो यह 828.82 रु. प्रति सिलैंडर बनती है। फिर इस कीमत पर मोदी सरकार 5 प्रतिशत जीएसटी बॉटलिंग शुल्क, एजेंसी कमीशन, परिवहन शुल्क लेती है और फिर कंपनियों के अपने लाभ में वृद्धि करती है और इस देश के गरीब लोगों से प्रत्येक सिलैंडर के लिए 949- 1100 रुपए की मोटी राशि वसूल की जा रही है।