Mansa : सुंडी से कपास की फसल को हुए नुक्सान के लिए घटिया बीज व कीटनाशक दवाइयां विक्रेता जिम्मेदार, जांच कराकर होगी कार्रवाई : CM मान

Spread the News

मनसा : पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने प्राकृतिक आपदा से फसल बर्बाद होने से आर्थिक रूप से बुरी तरह प्रभावित हुए किसानों के हित में एक बड़ा फैसला लेते हुए आज घोषणा की कि इसे पूरा किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आज जिले में पिंक बॉलवर्म से प्रभावित किसानों को मुआवजा वितरण के लिए आयोजित एक समारोह के दौरान कहा कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों को अपनी फसल के नुक्सान के बाद भी मुआवजा पाने के लिए एक जटिल प्रक्रिया से गुजरना पड़ा। उन्होंने कहा कि दिल्ली की आप सरकार द्वारा पहले से ही प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है, जहां किसानों को प्राकृतिक आपदा के कारण फसल के नुक्सान की भरपाई की जाती है और फिर गिरदावरी की जाती है।

उन्होंने हाल के दिनों में मालवा बेल्ट में सफेद और गुलाबी टिड्डियों द्वारा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुई कपास की फसल के लिए किसानों को प्रदान किए गए खराब गुणवत्ता वाले बीज और कीटनाशकों को दोषी ठहराया और दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने आज जिले के 15 प्रभावित कपास किसानों को मुआवजा चेक सौंपने के अवसर पर किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि मालवा क्षेत्र में कपास की फसल को पूर्व में हुई क्षति के कारण प्राकृतिक आपदा नहीं आई है। उन्होंने कहा कि अगर किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज और असली कीटनाशक उपलब्ध करा दिए जाते तो आज किसान परिवारों की हालत खराब नहीं होती। कृषि को लाभदायक व्यवसाय बनाने का वादा करते हुए भगवंत मान ने कहा कि हमारी सरकार किसानों को लाभदायक फसल लगाने के लिए प्रेरित करने के लिए नई तकनीक लाने के लिए विभिन्न विश्वविद्यालयों के विशेषज्ञों से परामर्श कर रही है।

ज्ञात हो कि पिछले साल जिले में गुलाबी टिड्डी के प्रकोप से मानसा, बठिंडा, श्री मुक्तसर साहिब सहित मालवा पट्टी के कई जिलों में कपास की फसल को भारी नुक्सान हुआ था, लेकिन किसानों को समय पर मुआवजा नहीं मिला था। मुख्यमंत्री ने आज जसविंदर सिंह, जोगिंदर सिंह और गुरदेव सिंह सहित कई किसानों को मुआवजे के चेक बांटे। इस मौके पर विधायक बुद्ध राम, विधायक सुखवीर सिंह, विधायक गुरप्रीत सिंह के अलावा कमल किशोर यादव मुख्यमंत्री के विशेष प्रधान सचिव मोहिंदर पाल आदि गण्यमान्य उपस्थित थे।