मुख्यमंत्री ने एचएयू में किया विभिन्न विकाय परियोजनाओं का उद्घाटन

Spread the News

हिसार : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में कृषि विज्ञान एवं हरियाणवी संस्कृति को संजोए हुए डा. मंगलसेन कृषि संग्रहालय का उद्घाटन किया। उन्होंने हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री डा. मंगलसेन की प्रतिमा का भी अनावरण किया। इस मौके पर कुलपति प्रो. बी.आर. काम्बोज की अगुवाई में मुख्यमंत्री ने इस संग्रहालय का भ्रमण किया और यहां प्रदर्शित विश्वविद्यालय की ऐतिहासिक प्रौद्योगिकियों, त्री-आयामी (थ्री-डी मॉडल), हरियाणा की गौरवपूर्ण विकास यात्र के साथ हरियाणवी संस्कृति को दर्शाने वाले ग्रामीण पुरातन संग्रहालय का अवलोकन किया।

इस मौके पर कुलपति प्रो. बी.आर. काम्बोज ने बताया कि इस संग्रहालय में आगंतुकों को एक ही छत के नीचे विश्वविद्यालय की विशिष्ठ उपलब्धियों, कृषि व कृषक हितैषी कार्यो के साथसाथ हरियाणा की गौरवमयी संस्कृति एवं ऐतिहासिक धरोहरों की जानकारी मिल सकेगी। वर्तमान व भावी पीढ़ी भी इस संग्रहालय का भ्रमण करके कृषि व कृषि की विकास यात्रा के बारे में ज्ञान हासिल कर सकेंगी। इस अवसर पर कृषि मंत्री जे.पी. दलाल, निकाय मंत्री डा. कमल गुप्ता, डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा, कैप्टन भूपेन्द्र, विधायक विनोद भयाना व विश्वविद्यालय के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

विश्वविद्यालय की वर्चुअल कृषि समाधान सेवा को किसानों को किया समर्पित

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय की वर्चुअल कृषि समाधान सेवा को किसानों को समर्पित किया। इस सेवा के शुरू होने से हरियाणा के किसान व पशुपालक अब घर बैठे अपनी समस्याओं का स्टीक समाधान प्राप्त कर पाएंगे। कुलपति ने बताया कि अब तक किसान विश्वविद्यालय की टोल फ्री हेल्प लाइन सेवा से फोन पर विशेषज्ञों से संपर्क करके अपनी फसलों पर कीट व रोग के प्रकोप या अन्य कृषि व पशुपालन से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए संपर्क कर रहे थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न जिलों के किसानों से बातचीत की और उनके फसल संबंधी जानकारी ली।

खिलाड़ियों के लिए मल्टीपर्पज हॉल व काम्बैट हॉल का भी उद्घाटन किया

इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के गिरि सेंटर में नवनिर्मित मदल लाल ढ़ींगरा मल्टी पर्पज हॉल और काम्बैट हॉल का भी उद्घाटन किया। इस मल्टी पर्पज़ हॉल का निर्माण खेलो इंडिया स्कीम के तहत केन्द्रीय खेल मंत्रलय द्वारा प्रदान की गई 8 करोड़ रूपए की अनुदान राशि से किया गया है। कुलपति प्रो. काम्बोज ने बताया इस पूर्णत: वातानुकुलित हाल में लगभग सभी इंडोर खेलों जैसे वॉलीबॉल, हैंडबाल, कबड्डी, टेबल टैनिस, बैडमिंटन, जूडो, वुशु, बास्केटबाल आदि का आयोजन किया जा सकेगा।