‘मन की बात’ में PM Modi बोले- भारत ने 30 लाख करोड़ निर्यात का ऐतिहासिक लक्ष्य किया हासिल, दुनियाभर में स्वदेशी चीजों की बढ़ी मांग

Spread the News

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। पांच राज्यों में चुनाव के बाद पीएम मोदी मन की बात के जरिए लोगों से एक बार फिर रुबरु हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि बीते सप्ताह हमने एक ऐसी उपलब्धि हासिल की, जिसने हम सबको गर्व से भर दिया है। हमने 30 लाख करोड़ निर्यात का ऐतिहासिक लक्ष्य हासिल किया है। एक समय में भारत से निर्यात का आंकड़ा कभी 100-200 बिलियन तक हुआ करता था अब आज भारत 400 बिलियन डॉलर पर पहुंच गया है, इसका मतलब ये है कि दुनियाभर में भारत में बनी चीज़ों की मांग बढ़ रही है और भारत की सप्लाई चेन दिनों-दिन और मजबूत हो रही है।

दुकानदारों ने समान सरकार को सीधा बेचा
पीएम मोदी ने आगे कहा कि पिछले एक साल में GeM पोर्टल के जरिए सरकार ने 1 लाख करोड़ रु. से ज्यादा की चीज़े खरीदी हैं। देश के कोन-कोने से करीब-करीब सवा लाख लघु उद्यमियों, छोटे दुकानदारों ने अपना सामान सरकार को सीधे बेचा है।

जल संरक्षण अभियान में जुड़ने की अपील
पीएम मोदी ने बच्चों से जल संरक्षण अभियान में जुड़ने की अपील की है। पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छता अभियान से जुड़कर जैसे बच्चों ने इसे आंदोलन का रूप दे दिया उसी तरह जल संरक्षण अभियान से जुड़कर बच्चे बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कवि रहीम बहुत ही पहले कह गए हैं रहिमन पानी राखिए, बिन पानी सब सून।

बाबा शिवानंद का किया जिक्र
मन की बात में पीएम मोदी ने कहा कि हाल ही में हुए पद्म सम्मान समारोह में आपने बाबा शिवानंद जी को जरूर देखा होगा। 126 साल के बुजुर्ग की फुर्ती देखकर मेरी तरह हर कोई हैरान हो गया होगा और मैंने देखा पलक झपकते ही वो नंदी मुद्रा में प्रणाम करने लगे। मैंने भी बाबा शिवानंद जी को झुककर प्रणाम किया। बाबा शिवानंद की फिटनेस आज देश में चर्चा का विषय है मैंने सोशल मीडिया पर कई लोगों का कमेंट देखा कि बाबा शिवानंद अपनी उम्र से 4 गुना कम आयु से ज्यादा फिट हैं। बाबा शिवानंद का जीवन हम सभी को प्रेरित करता है। मैं उनकी दीर्घ आयु की कामना करता हूं।

पीएम मोदी ने त्यहारों के बारे में किया जिक्र
पीएम मोदी ने अप्रेल में आने वाले त्योहारों के बारे में कहा कि संयम और तप भी हमारे लिए पर्व ही है, इसलिए नवरात्र हमेशा से हम सभी के लिए बहुत विशेष रहा है। कुछ ही दिन बाद ही नवरात्र है। नवरात्र में हम व्रत-उपवास, शक्ति की साधना करते हैं, शक्ति की पूजा करते हैं, यानी हमारी परम्पराएं हमें उल्लास भी सिखाती हैं और संयम भी। हम सबको साथ लेकर अपने पर्व मनाएं, भारत की विविधता को सशक्त करें, सबकी यही कामना है।

बेटियों की पढ़ाई पर विशेष रूप से फोकस करें देशवासी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर एवं महात्मा ज्योतिबा फुले को श्रद्धांजलि देते हुए लोगों से अपील की कि वे अपनी बेटियों की पढ़ाई पर विशेष रूप से फोकस करें। पीएम मोदी ने कहा कि अप्रैल के महीने में हम दो महान विभूतियों – महात्मा फुले और बाबा साहब अम्बेडकर की जयंती भी मनाएंगे। इन दोनों ने ही भारतीय समाज पर अपना गहरा प्रभाव छोड़ा है। महात्मा फुले की जयंती 11 अप्रैल को है और बाबा साहब की जयंती हम 14 अप्रैल को मनाएंगे। इन दोनों ही महापुरुषों ने भेदभाव और असमानता के खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ी। महात्मा फुले ने उस दौर में बेटियों के लिए स्कूल खोले, कन्या शिशु हत्या के खिलाफ आवाज़ उठाई। उन्होंने जलसंकट से मुक्ति दिलाने के लिए भी बड़े अभियान चलाए।