खेल मंत्री राकेश पठानिया ऊना विस क्षेत्र को देंगे 4.92 करोड़ की सौगात : सत्ती

Spread the News

ऊना : वन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री राकेश पठानिया ऊना सदर विस क्षेत्र के प्रवास में 4.92 करोड़ के उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे। यह जानकारी देते हुए छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने बताया कि अपने प्रवास के दौरान राकेश पठानिया खेल मंत्री जलग्रां में 1.37 करोड़ से बनने खेल स्टेडियम तथा बहडाला में 1.42 करोड़ की लागत से बनने वाले खेल स्टेडियम निर्माण कार्य का भूमि पूजन करेंगे। इसके अतिरिक्त राकेश पठानिया लगभग 1 करोड़ रुपए की लागत से देहलां में निर्मित स्टेडियम के साथसाथ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बहडाला में 1.13 करोड़ रुपए से बनाए गए चार कमरों व एक हॉल का लोकार्पण करेंगे।

उन्होंने कहा कि अपने प्रवास के दौरान वन मंत्री राकेश पठानिया जलग्रां, बहडाला तथा देहलां में तीन जनसभाओं को संबोधित करेंगे। सतपाल सत्ती ने कहा कि ऊना खेल भूमि है तथा इसे खेलों के हब के रूप में विकसित करने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। पहले पूरे विस क्षेत्र में जहां केवल इंदिरा स्टेडियम ही एकमात्र खेल का मैदान था, वहीं अब प्रदेश सरकार के प्रयासों से खेलों के लिए मजबूत आधारभूत ढांचा विकसित हो रहा है।

सत्ती ने कहा कि प्रदेश सरकार ने इंदिरा स्टेडियम में आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए 2 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च की है। करीब 70 लाख रुपए से मैदान में फैंसिंग, पेवर तथा नालियां बनाने का कार्य किया गया है, जबिक 70 लाख रपए इनडोर स्टेडियम की छत्त की मुरम्मत पर खर्च किए गए हैं। साथ ही 20 लाख रुपए कमरों की मुरम्मत तथा 20 लाख रुपए से इनडोर स्टेडियम में मैट व पोल आदि की व्यवस्था में सुधार लाया गया है, जबकि दस लाख रुपए होस्टल पर खर्च किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मैदान के विकास के लिए अभी 1.50 करोड़ रुपए की धनराशि की एक और किश्त जारी करने जा रही है।

सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि इसके अतिरिक्त मलाहत में खेल का मैदान विकसित करने के लिए 15 लाख तथा नंगड़ा में बास्केटबॉल का ग्राऊंड बनाने के लिए 5 लाख रुपए दिए गए हैं। आने वाले दिनों में मैहतपुर में आईटीआई के पास तथा कुठार कलां भी खेल विकसित किए जाएंगे, जिसके लिए प्रक्रिया जारी है। साथ ही स्कूलों में भी विद्यार्थियों को खेलों की ओर आकर्षित करने के लिए ऊना विस क्षेत्र के 11 स्कूलों को कबड्डी, कुश्ती, खो-खो तथा जूडो खेलों के लाखों रुपए के मैट प्रदान किए गए हैं, ताकि स्कूलों में खेलों के लिए बेहतर व्यवस्थाएं विकसित की जा सकें।