लूट की योजना बनाते 2 युवक अवैध हथियारों के साथ गिरफ्तार, 3 चोरी की बाइक भी बरामद

Spread the News

यमुनानगर : अक्सर सुनसान रास्तों पर राहगीरों के साथ लूट हो जाती है। ऐसा ही मामला सामने आया है। एंटी व्हीकल थैप्ट सैल की टीम ने दो युवक लूट की योजना बनाते हुए अवैध हथियारों के साथ गिरफ्तार किए हैं, जिनसे अवैध हथियार भी मिले हैं और तीन चोरी की बाईकें बरामद हुई हैं। एक आरोपी शैंकी पर तो हरियाणा व उत्तर प्रदेश में 14 मामले विभिन्न धाराओं के दर्ज हैं, जो कोर्ट में विचाराधीन हैं। आरोपी शैंकी का भाई भी अपराधिक किस्म का है और वह भी पुलिस कस्टडी से भाग गया था, जिसे जिले की पुलिस ने पकड़ा था। दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया हैं। आरोपियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट, लूट की योजना सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

सेल के इंचार्ज रमेश राणा ने बताया कि उनकी टीम को सूचना मिली कि सुघ जंगल में दो युवक हथियार सहित बैठे हैं और राहगीरों को लूटने की फिराक में है। उन्होंने अपनी टीम में से सिपाही कमलजीत सिंह को बोगस राहगीर बनाकर भेजा, जब वह जंगल के पास पहुंचा तो दोनों आरोपियों ने सिपाही कमलजीत को पकड़ लिया। इशारा पाते ही पीछे खड़ी सब इंस्पेक्टर सुखविंद्र सिंह, राजेश, अनिल, रविंद्र, धर्मपाल की टीम ने दोनों आरोपियों को मौके पर जाकर दबोच लिया। पूछताछ में जिनकी पहचान उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर के गांव कुतुबपुर निवासी शैंकी व जाजवा निवासी मंजीत के नाम से हुई। आरोपी शैंकी के पास से एक देशी कट्टा व एक जिंदा राउंड बरामद हुआ, जबकि आरोपी मनजीत के पास से लोहे का सरिया बरामद हुआ।

आरोपियों के खिलाफ लूट की योजना, आर्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया। इंचार्ज रमेश राणा ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में चोरी की तीन बाइकों का खुलासा किया है और बाइक बरामद कर ली गई है। आरोपियों ने 15 फरवरी को थाना शहर में यमुनानगर एरिया से बाइक चोरी की। उसके बाद कन्हैया साईं चौक स्थित संतोष हॉस्पिटल के बाहर से 25 मार्च को बाइक चोरी की। इसके अलावा एक बाइक आरोपियों से ऐसी बरामद हुई है जिस पर ना तो नंबर प्लेट लगी हुई है और ना ही इंजन नंबर साफ दर्शाया गया है, जिसकी जांच की जा रही है। आरोपी शैंकी के पास पहले भी उत्तर प्रदेश में हरियाणा में 14 मामले दर्ज है जो कोर्ट में विचाराधीन है।

आरोपियों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। एसपी कमलदीप गोयल ने बताया कि उनकी एवीटीसी की टीम सराहनीय कार्य कर रही है। उन्होंने करीब 5 लूट की योजना बनाते हुए गैंग पकड़े हैं,जो अक्सर सुनसान रास्तों पर लोगों को लूटने काम करते थे और टीम ने उन आरोपियों को हथियारों सहित पकड़ा है जो सराहनीय कार्य है।