बेअदबी मामलाः Gurmeet Ram Rahim के एडवोकेट ने दी सफाई, कहा- राजनीतिक द्वेष के चलते फंसाने की हो रही कोशिश

Spread the News

चंडीगढ़ः डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के बेअदबी मामले को लेकर उनके वकील और एडवोकेट ने आज प्रेंस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उनके एडवोकेट जितेंद्र खुराना ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा की तरफ से यह विश्वास दिलाना चाहता है कि गुरमीत राम रहीम का कोई हाथ नहीं है। पिछली सरकार द्वारा राजनीतिक द्वेष के चलते उन्हें फसाने की कोशिश की जा रही है। अगर कोई व्यक्ति किसी धर्म की निंदा भी करता है वह भी बर्दाशत नहीं है। बेअदबी मामले पर किसी भी प्रकार की राजनीति नही होनी चाहिए।

वहीं गुरमीत राम रहीम के वकील केवल बराड़ ने कहा कि यह सिर्फ एक साजीश है जिसके तहत गुरमीत राम रहीम को फसाने की कोशशि की जा रही है। 2015 से लेकर 2018 तक सीबीआई के पास इस मामले की जांच थी। 2018 के बाद इस मामले की जांच पंजाब पुलिस को किस बिनाह पर सौंप दीं। इस मामले में बहुत सी ऐसी बाते है जिनकी आज तक जांच नही हुई, यह जबरन गुरमीत राम रहीम को दोषी करार करने पर तुले है। अभी तक पंजाब पुलिस द्वारा एकतरफा जांच हुई है । पंजाब के अंदर आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है हमे उम्मीद है कि वह इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाएंगे।

बता दें कि, 12 अक्टूबर, 2015 को गांव बरगाड़ी के गुरुद्वारा साहिब के बाहर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के पावन स्वरूप की बेअदबी करने का मामला सामने आया था। इस घटना से सिख संगत में व्यापक स्तर पर रोष फैल गया था। तीन माह पहले एक जून 2015 को बरगाड़ी से सटे गांव बुर्ज जवाहर सिंह वाला के गुरुद्वारा साहिब से पावन ग्रंथ का स्वरूप चोरी किया।