मंत्री Kuldeep Dhaliwal ने NDDB अध्यक्ष के साथ की दो दिवसीय बैठक, बोले- इनके सहयोग से 900 करोड़ रुपये के निवेश से पंजाब में लगाए जाएंगे 12 मिल्क प्लांट

Spread the News

चंडीगढ़/आनंद सेहर: पंजाब के किसानों को राज्य में श्वेत क्रांति की ओर ले जाने के लिए और अपनी आय को पूरक करके वित्तीय संकट से बाहर निकालने के लिए गुजरात के आनंद शहर में राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के कार्यालय में दो दिवसीय बैठक की गई । इसमें एनडीडीबी अध्यक्ष मनीष शाह शामिल हुए। इस दौरान पंजाब के पशुपालन, डेयरी विकास और मत्स्य पालन मंत्री कुलदीप धालीवाल ने कहा कि एनडीडीबी के सहयोग से पंजाब में लगभग 900 करोड़ रुपये के अनुमानित परिव्यय के साथ 12 दुग्ध संयंत्र स्थापित किए जाएंगे।

इस मीटिंग के बारे में जानकारी देते हुए मंत्री कुलदीप धालीवाल ने कहा कि एनडीडीबी पंजाब सरकार के साथ मिलकर वित्तीय सहायता की व्यवस्था करने और आवश्यकतानुसार तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिए काम करेगा। चूंकि राज्य में पहले से ही 11 दुग्ध संयंत्र हैं, जो 6,000 गांवों को कवर करते हैं, इससे दुग्ध संयंत्रों की संख्या बढ़कर 23 हो जाएगी और राज्य के कुल 12,000 गांवों को कवर किया जाएगा। इससे प्रतिदिन 10 लाख लीटर अतिरिक्त दूध की खरीद होगी।

धालीवाल ने आगे कहा कि इसके अलावा प्रदूषण की समस्या को दूर करने और डेयरी किसानों को सस्ता चारा उपलब्ध कराने के लिए पंजाब सरकार गंगानगर और कोल्हापुर में सफलतापूर्वक संचालित दो संयंत्रों की तर्ज पर अमृतसर में टोटल मिक्स्ड राशन प्लांट स्थापित करेगी। साथ ही 80 करोड़ रुपये के अनुमानित परिव्यय पर जिसके लिए एनडीडीबी सभी आवश्यक सहायता प्रदान करेगा और इससे फसल अवशेष जलाने की समस्या का भी समाधान होगा।

पंजाब के मंत्री ने आगे कहा कि एनडीआरआई की तर्ज पर डेयरी शिक्षा प्रदान करने के लिए, एनडीडीबी ने पंजाब में इस तरह के एक संस्थान की स्थापना के लिए पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया है। मंत्री ने पंजाब में इन परियोजनाओं की स्थापना में सहायता का आश्वासन देने के लिए अध्यक्ष एनडीडीबी को धन्यवाद दिया।