Haryana में ग्रुप सी, डी पदों की भर्ती के लिए Eligibility टेस्ट (सीईटी) संशोधित पालिसी मंत्रिमंडल से मंजूर

Spread the News

हरियाणा सरकार के विभागों, बोर्डों, निगमों, विश्वविद्यालयों, वैधानिक संस्थाओं और प्रदेश सरकार की तरफ से संचालित अन्य एजेंसियों में ग्रुप सी और डी पदों पर चयन के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) पालिसी में संशोधन को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिल गई है। यह मंजूरी मंत्रियों से सर्कुलेशन के आधार पर मिली है। अब एक-दो दिन में अधिसूचना जारी हो जाएगी। इसके साथ ही हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग पद विज्ञापित करेगा और उसके बाद सीईटी परीक्षा के लिए योग्य उम्मीदवारों को पंजीकरण के लिए कहेगा। हालांकि अभी भी पंजीकरण जारी है मगर विज्ञापन जारी होने के बाद बचे योग्य उम्मीदवारों को पंजीकरण के लिए मौका मिलेगा।

यह संशोधित पालिसी ग्रुप सी और डी पदों की भर्ती के लिए होगी। इसमें शिक्षकों की भर्ती के लिए सीईटी नहीं होगा। उनके लिए पात्रता परीक्षा ही मानदंड रहेगा। सीईटी या एचटेट के बाद हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग अपनी लिखित परीक्षा लेगा। संशोधन में सीईटी स्कोर में सामाजिक-आर्थिक मानदंड के 5 प्रतिशत और आयोग की लिखित परीक्षा में 2.5 प्रतिशत अंक जुड़ेंगे। सीईटी की परीक्षा में जनरल उम्मीदवारों को कम से कम 50 प्रतिशत अंक लेने होंगे जबकि आरक्षित उम्मीदवारों को 40 प्रतिशत अंक लेने होंगे। अगर इनसे कम होंगे तो वह भर्ती की अगली प्रक्रिया के लिए अयोग्य होगा और उसे दोबारा सीईटी टेस्ट देना होगा।

यही सीईटी स्कोर आयोग की वेबसाइट पर अपलोड होगा। उदाहरण के तौर पर अगर सीईटी के कुल अंक 100 हैं तो सीईटी की लिखित परीक्षा में अधिकतम अंक 95 होंगे। इसमें किसी के 80 अंक आते हैं और सामाजिक-आर्थिक मानदंड के अधिकतम 5 अंक मिलते हैं तो उम्मीदवार का सीईटी स्कोर 85 होगा। लिखित परीक्षा में जनरल को 47.5 अंक और आरक्षित को 40 अंक लेना जरूरी हैं। इस तरह उम्मीदवारों के सीईटी स्कोर तय होंगे।