संघर्ष प्रभावित उत्तरी Ethiopia के लिए UN ने मांगी सहायता

Spread the News

संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (यूएनओसीएचए) ने बारिश के मौसम से पहले संघर्ष प्रभावित उत्तरी इथियोपिया के किसानों को बीज और उर्वरक उपलब्ध कराने का आह्वान किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने यूएनओसीएचए के हवाले से कहा, ‘‘मेहर रोपण मौसम (इथियोपिया का मुख्य बरसात का मौसम) का समर्थन करने के लिए उत्तरी इथियोपिया में किसानों को बीज और उर्वरक तत्काल उपलब्ध कराने की आवश्यकता है।’’ उत्तरी इथियोपिया में समग्र मानवीय स्थिति गंभीर बनी हुई है।

संयुक्त राष्ट्र टिग्रे, अफार और अमहारा क्षेत्रों में आवश्यक सहायता को पूरा के लिए सभी स्टेक हॉल्डर्स के साथ मिलकर काम कर रहा है। यूएनओसीएचए ने चेतावनी दी, ‘‘अगर फसल के मौसम से पहले किसानों को समय पर बीज और उर्वरक नहीं दिए गए, तो उत्तरी इथियोपिया में खाद्य सुरक्षा खतरे में आ जाएगी।’’ इथियोपिया का मुख्य वर्षा ऋतु ‘मेहर रोपण मौसम’ जून से सितंबर तक रहता है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, यह मौसम देश की खाद्य फसलों के लगभग 85 प्रतिशत से 95 प्रतिशत के उत्पादन में योगदान देता है।

यूएनओसीएचए ने चेतावनी दी कि बीज और उर्वरक उपलब्ध न होने परिणामस्वरूप उत्तरी इथियोपिया में यह तीसरा खराब कृषि मौसम रहेगा, लगातार तीन कृषि मौसम के बर्बाद होने से लोगों के जीवन और आजीविका पर गहरा असर पड़ेगा। यूएनओसीएचए ने कहा, 60,000 मीट्रिक टन उर्वरक, 50,000 मीट्रिक टन उन्नत फसल बीज, 40,000 लीटर कीटनाशक और 34,000 लीटर कवकनाशी की आवश्यकता है। इसके अलावा, टीके, दवाओं और कुछ अन्य उपकरणों की भी जरुरत है। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि उत्तरी इथियोपिया के संघर्ष प्रभावित हिस्सों में 90 लाख से ज्यादा लोगों को खाद्य सहायता की आवश्यकता है।