फूलों की महक से महकाएं अपना आशियाना

Spread the News

घर के किसी कोने में सजा एक बढ़िया-सा फ्लॉवर अरेंजमैंट उस घर में रहने वाले के व्यक्तित्व का आईना होता है। ऑफिस , अस्पताल, बैंक या फिर घर ही क्यों न हो, एक अच्छा फ्लॉवर अरेंजमैंट उस स्थान की शोभा में चार चांद लगा देता है लेकिन एक सही, बैलेंस्ड और आकर्षक फ्लॉवर अरेंजमैंट बनाने के लिए हमें कुछ बातों पर ध्यान देना बहुत जरूरी है।

-सबसे पहले एक अच्छे से कंटेनर का चुनाव करें। बाजार में मैटल, सिरेमिक, लकड़ी, बांस, प्लास्टिक, टेराकोटा और पत्थर आदि के विभिन्न आकारों, रंगों और डिजाइनों के कंटेनर आसानी से उपलब्ध हैं। फ्लॉवर अरेंजमैंट के लिए कंटेनर चुनते समय ध्यान दें कि यह न तो जरूरत से ज्यादा बड़ा हो और न ही तंग मुंह वाला।

-ताजे, सुडौल और तंदुरुस्त फूल ही चुनें। रंगों का भी खास ध्यान रखें। हमेशा मोनो कलर के फूल लें या कंट्रास्ट कलर के। थोड़े सफेद फूल जरूर एड करें क्योंकि यह एक न्यूट्रल रंग है।

-बैकग्राऊंड का भी ख्याल रखना आवश्यक है। बड़े कमरों के लिए ऊंचे और फैलावदार फ्लॉवर अरेंजमैंट सूट करते हैं और छोटे कमरों में ‘स्लीक’ फ्लॉवर अरेंजमैंट जंचते हैं। कॉर्नर्स में बड़े पॉट और डायनिंग टेबल पर गोलाकार छोटे-छोटे फूलदान ठीक रहते हैं।

-फ्लॉवर अरेंजमैंट में उसकी ‘हाइट’ बहुत महत्वपूर्ण होती है। आमतौर पर कंटेनर के अनुपात में फूलों की ऊंचाई डेढ़ गुणा होनी चाहिए। कभी भी फूलों की डंडियों को एक ही हाइट का न काटें। हमेशा छोटा-बड़ा काटें।

-अपना ‘आई-लैवल’ सही रखें। अगर आप जमीन पर या तसले में फ्लॉवर अरेंजमैंट कर रही हैं तो फैलावदार रखें और ढेर सारे फूल ऊपर की ओर सजाएं। -अगर फूलदान किसी ऊंचाई पर, नीचे या मुंडेर पर रख रहे हैं तो फूलों और पत्तियों की टहनियों को नीचे लटकने दें जैसे लगे कोई झरना नीचे की ओर गिर रहा हो।

-कोई भी फ्लॉवर अरेंजमैंट बनाने से पहले उसकी एक रफ इमेज अपने दिमाग में जरूर बना लें। क्या आप ट्राएंगल, ऑब्लांग , सर्कल, सीधा या रेक्टैंगुलर शेप देना चाहते हैं? फिर उस हिसाब से कंटेनर में बुलरशेज डंडियां, झाड़ के तीले या कॉने लगाएं और एक आकार दे दें।

-इस स्कीम को फॉलो करते-करते पहले फोलिएज सजाएं। फर्म, एस्पेरेगस, मोंस्ट्रिया, पालम के पत्ते मनचाहे आकार के काटकर भी लगा सकते हैं ताकि इनकी सुंदरता बढ़ जाए।

-अब तरीके से एक-एक करके फूल सजाएं। फूलों को एक जगह मजबूती से रखने के लिए स्टैम होल्डर, हार्ड-स्पंज, नैट, तारों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

-अगर आप फ्लॉवर अरेंजमैंट के साथ कोई छोटी-मोटी चीज रख दें, तो उसकी शोभा और भी बढ़ जाएगी। मिसाल के तौर पर अपने फ्लॉवर अरेंजमैंट के साथ सिरेमिक की दो छोटी-सी बत्तखें रख दें या फिर उसकी बैक पर राजस्थानी कठपुतलियों का एक जोड़ा टांग दें।