Breaking : चुनाव से पहले BJP की बड़ी पहल, उड्डयन मंत्री Jyotiraditya Scindia ने Sangrur में Airport स्थापित करने की दी मंजूरी

Spread the News

चंडीगढ़ : पूर्व विधायक एवं भाजपा नेता केवल सिंह ढिल्लों को संगरूर में हवाई अड्डा बनाने लिए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को एक पत्र लिखा था। इस पत्र का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि संगरूर उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी द्वारा की गई मांग का हवाला देते हुए केवल सिंह ढिल्लों संगरूर क्षेत्र में हवाई अड्डा व कार्गो टर्मिनल स्थापित करने की मांग की। केंद्रीय मंत्री ने उन्हें एक पत्र लिखा है जिसमें कहा गया है कि भारत सरकार ने एक ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे (जीएफए) नीति, 2008 तैयार की है जो देश में नए ग्रीनफील्ड हवाई अड्डों की स्थापना के लिए दिशानिर्देश, प्रक्रिया और शर्तें प्रदान करती है।

उन्होंने कहा कि नीति के अनुसार एक हवाई अड्डा विकासकर्ता या संबंधित राज्य सरकार जो एक हवाईअड्डा स्थापित करने के इच्छुक हैं, को निर्धारित प्रारूप में नागरिक उड्डयन मंत्रालय को एक प्रस्ताव भेजना आवश्यक है। प्रस्ताव के अनुमोदन के लिए 2 चरण की प्रक्रिया है, ‘साइट क्लीयरेंस’ और उसके बाद ‘इन-सिद्धांत’ अनुमोदन। इस नीति के अनुसार मंत्रालय को समय-समय पर हवाई अड्डों की स्थापना के लिए राज्य सरकारों या हवाई अड्डा विकासकर्ताओं से प्रस्ताव प्राप्त होते हैं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में संगरूर से निकटतम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लगभग 125 किमी की दूरी पर चंडीगढ़ में है। इसके अलावा, हलवारा में नया अंतरराष्ट्रीय सिविल एन्क्लेव विकसित किया जा रहा है, जो संगरूर से लगभग 85 किमी की दूरी पर स्थित है। अभी तक मंत्रालय को संगरूर में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निर्माण के लिए जीएफए नीति के अनुसार कोई प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुआ है। हालांकि अगर किसी एयरपोर्ट डेवलपर या राज्य सरकार से ऐसा कोई प्रस्ताव प्राप्त होता है, तो उस पर ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट पॉलिसी, 2008 के अनुसार विचार किया जाएगा। नागरिक उड्डयन मंत्रालय हमेशा देश भर में हवाई अड्डे के बुनियादी ढांचे के विकास का समर्थन करता है।