प्रदर्शन कर रहे नौजवान ‘अग्निपथ योजना’ व ‘अग्निवीर’ को अच्छी तरह समझें, फिर दें प्रतिक्रिया : Jeevan Gupta

Spread the News

चंदीगढ़ : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महासचिव जीवन गुप्ता ने केंद्र सरकार द्वारा देश के नौजवानों के लिए शुरू की गई ‘अग्निपथ योजना’ का विरोध कर रहे नौजवानों एवं संगठनों को पहले इस योजना के बारे में अच्छी तरह समझने की अपील की। उन्होंने कहा कि जो लोग उग्र हो कर इस योजना के विरुद्ध प्रदर्शन कर देश की संपत्तियों को नुक्सान पहुंचा रहे हैं, वो बिना-सोचे-समझे देश-विरोधियों के बहकावे में आकर ऐसे उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं, जो कि सरासर गलत है। गुप्ता ने कहा कि वो उन्हें बताना चाहते हैं कि देश की संपत्ति उनकी अपनी संपत्ति है और उसे नुक्सान पहुँचा कर वो देश के साथ-साथ अपना नुकसान कर रहे हैं।

उन्होंने प्रदर्शन कर रहे नौजवानों से अपील की कि नौजवान अपने प्रदर्शन के दौरान सरकारी संपत्तियों का नुक्सान बंद करके सरकार के साथ मिल बैठ कर बातचीत के माध्यम से इसका हल निकालें। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ‘अग्निपथ योजना’ से सेना की भर्ती बंद नहीं होगी, उल्टा इससे नौजवानों को नए अवसर मिलेंगें और उनके दिलों में देश-सेवा और देश-प्रेम की भावना पैदा होगी। इस योजना के तहत भर्ती किए गए युवाओं को चार वर्षों के बाद 25 प्रतिशत को भारतीय सेना में आगे बढ़ने का मौका मिलेगा, जबकि बाकि अग्निवीर अन्य सुरक्षा बलों तथा राज्य सरकार के विभागों में रोजगार के लिए आगे बढ़ सकते हैं।

उन्होंने कहा कि भारत की इस योजना को विश्व के करीब 30 देश पहले ही चला रहे हैं। जहाँ कम अवधि के लिए सेना में भर्तियाँ होती हैं। वहीँ करीब 10 देश ऐसे हैं जहाँ नौजवान लड़के-लड़कियों दोनों के लिए सैन्य सेवा अनिवार्य है। इसके लिए वहां कानून भी बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका जैसे विकसित देश में यह योजना पहले से ही लागू है और वहां इसके तहत बेसिक और एडवांस ट्रेनिग के बाद 2 साल के लिए एक्टिव ड्यूटी अनिवार्य है और इसके बाद आर्मी रिजर्व में अतिरिक्त दो साल की सेवा देनी पड़ती है।

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में 18 साल से ऊपर के युवाओं के लिए 4 साल के लिए भर्ती किया जाता है। यु.के. में 16 वर्ष की उम्र से सेना में भर्ती होना अनिवार्य है। रूस में 18 वर्ष से 27 वर्ष के नौजवानों के लिए सैन्य सेवायें देना अनिवार्य है। तुर्की में 20 साल से अधिक आयु के सभी पुरुषों के लिए 6 से 15 महीने तक सैन्य सेवा अनिवार्य है। ग्रीस में 19 साल के पुरुषों के लिए 9 महीने सैन्य सेवा अनिवार्य है। इरान में 18 वर्ष से अधिक आयु के नौजवानों के लिए 24 महीने सेना की नौकरी अनिवार्य है।

इसी तरह दक्षिण कोरिया में सभी सक्षम नौजवानों को सेना में 21 महीने, नौसेना में 23 महीने और वायु सेना में 24 महीने सेवा देना अनिवार्य है। उत्तर कोरिया में पुरुषों को 11 साल और महिलाओं को 7 साल सैन्य सेवा देना अनिवार्य है। इसके अलावा चीन, इसराईल, स्विज़रर्लैंड, ब्राज़ील, स्वीडन, जार्जिया, सीरिया आदि देशों में भी सैन्य सेवा अनिवार्य है।