रात में बार-बार यूरिन पास करना हो सकता है टाइप-2 डायबिटीज का लक्षण, ब्लड शुगर बढ़ने से कई तरह की बीमारियों का खतरा

Spread the News

नई दिल्ली: डायबिटीज की समस्या आजकल के समय में काफी आम हो चुकी है। दुनियाभर में बहुत से लोग टाइप-2 डायबिटीज की समस्या से जूझ रहे हैं। यूं तो डायबिटीज के कई लक्षण दिखाई देते हैं, लेकिन आज हम आपको एक ऐसे लक्षण के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे देखकर आप टाइप-2 डायबिटीज का पता आसानी से लगा सकते हैं। अगर आप भी रात में बार-बार यूरिन पास करने के लिए उठते हैं तो यह टाइप-2 डायबिटीज का एक लक्षण हो सकता है।

रात में बार-बार पेशाब का आना इस बात की तरफ संकेत करता है कि आपका शरीर एक्स्ट्रा ब्लड शुगर को बाहर निकाल रहा है। टाइप 2 डायबिटीज की समस्या तब होती है जब आपके पैनक्रियाज इंसुलिन का उत्पादन काफी कम मात्रा में करते हैं। इंसुलिन एक ऐसा हार्मोन होता है जो खून में ग्लूकोज के लेवल को कंट्रोल में रखता है। शरीर में जब इंसुलिन अपना काम सही से नहीं कर पाता तो ग्लूकोज रक्त कोशिकाओं में इकट्ठा होना शुरू हो जाता है।

रक्त कोशिकाओं में ग्लूकोज का अधिक मात्रा में इकट्ठा होना काफी अनहेल्दी माना जाता है और यह आपके लिए खतरनाक भी साबित हो सकता है। नैशनल इंस्टीच्यूट फॉर हैल्थ एंड केयर एक्सीलैंस के विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि ब्लड शुगर का लैवल बढ़ने से कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है।

इन बीमारियों का खतरा

. हार्ट डिजीज
. पेरीफेरल आर्टरी डिजीज
. स्ट्रोक
. हार्ट अटैक
. किडनी डिजीज
. कम दिखाई देना

बीमारी के लक्षण

. हर समय प्यास लगना
. थकान महसूस होना
. वजन कम होना
. प्राइवेट पार्ट्स में खुजली लगना
. चोट का धीरे-धीरे ठीक होना
. धुंधला नजर आना

लक्ष्य दिखें तो डाक्टर से करें संपर्क

अगर आपको इस तरह के लक्षण अपने शरीर में नजर आ रहे हैं तो इसके लिए डाक्टर से संपर्क करना काफी जरूरी होता है। हालांकि डायबिटीज को जड़ से खत्म तो नहीं किया जा सकता, लेकिन समय पर इसका पता लगने से इसे कंट्रोल जरूर किया जा सकता है। डायबिटीज की समस्या का समय पर इलाज शुरू होने से आप बाकी कई तरह की हैल्थ प्रॉब्लम्स से बच सकते हैं।

ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर जरूर करें डायबिटीज मरीज

डायबिटीज की समस्या से पीड़ित लोगों को डाक्टर अक्सर लाइफस्टाइल में बदलाव करने की सलाह देते हैं। सलाह दी जाती है कि डायबिटीज के मरीजों को रोजाना ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर जरूर करना चाहिए। ध्यान रहे कि आपकी एक भी मील मिस न हो। साथ ही जिन चीजों में बहुत अधिक मात्रा में शुगर, फैट और नमक होता है, उनसे डायबिटीज के मरीजों को दूर ही रहना चाहिए।