पंजाब बजट: वित्त मंत्री Harpal Cheema ने बजट में किए कईं अहम ऐलान, नहीं जोड़ा गया कोई नया Tax

Spread the News

चंडीगढ़: पंजाब सरकार ने आज अपना पहला पेपरलेस बजट पेश कर दिया है। वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने आज विधानसभा सेशन के दौरान पंजाब वासियों के लिए कईं बड़े ऐलान किए। शिक्षा से लेकर सेहत तक पंजाब सरकार ने लोगों के लिए कईं फैसले लिए हैं। वहीं वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने कहा कि हमारी सरकार ने पहले ही राजस्व वृद्धि के उपाय शुरू कर दिए हैं। मुझे उम्मीद है कि वर्ष 2022-23 में हमारी राजस्व प्राप्तियों में वर्ष 2021-22 के संशोधित अनुमानों की तुलना में 17.08% की वृद्धि होगी, जिस से राज्य के खजाने में 95,378 करोड़ रुपए आएंगे।

पंजाब के लोगों पर नहीं लगेगा कोई टैक्स

बजट पेश करते हुए हरपाल चीमा ने कहा कि पंजाब के लोगों पर कोई नया टैक्स लगाए बिना किया जाएगा। नई आबकारी नीति एक “गेम चेंजर” नीति होगी, जो वर्षों से इस क्षेत्र में विकसित एकाधिकार/कुलीनतंत्र को तोड़ देगी। वर्ष 2022-23 में, जो राजकोष में लगभग 4,350 करोड़ रुपए का योगदान देगा। वहीं हरपाल चीमा ने कहा कि खनन सहित विभिन्न क्षेत्रों में नई नीतियों से राज्य के गैर कर-राजस्व में पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में 636 करोड़ रुपए अर्थात 11% की वृद्धि होने की उम्मीद है।

महिलाओं को एक हजार रूपए देने का वादा

वहीं हरपाल चीमा ने बजट पेश करते हुए अपने चुनावी वादे को करते हुए कहा कि हमनें महिलाओं को एक हजार रूपए देने का वादा किया था हालांकि आर्थिक हालात ठीक होते ही हम अपने इस वादे को पूरा करेंगे।

बजट के अंत में हरपाल चीमा ने कहा कि मैं अपनी पार्टी के हर सदस्य की ओर से कहता हूँ कि हमारे इरादे पवित्र व नेक हैं। इस बजट में समाज के सभी वर्गों को शामिल किया गया है जिसमें श्रमिक, किसान, युवा, छोटे व्यवसायी, उद्योगपति, भूतपूर्व सैनिक, बंचित लोग, महिलाएं, बच्चे और शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्र शामिल हैं। हम अपने पूर्वजों और स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों के अनुरूप अपने सपनों का पंजाब बनाने के लिए दिन-रात काम करेंगे। आगे की राह कठिन हो सकती है, लेकिन हमारा संकल्प किसी भी बाधा से दृढ़ है। चूंकि ऊंची और बड़ी इमारतों को मजबूत नींव पर ही बनाया जा सकता है, आज मैंने जो बजट पेश किया है, वह हमारे पंजाबी समाज और अर्थव्यवस्था की बुनियादी नींव पर केंद्रित है।