Himachal Police भर्ती पेपर लीक मामले में 171 आरोपी गिरफ्तार, अब होगी चार्जशीट दायर

Spread the News

शिमला: हिमाचल पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में अब तक 171 आरोपियाें को गिरफ्तार किया जा चुका है। अभी बाहरी राज्य के कुछ और मुख्य आरोपियों को हिरासत में लेना रह गया है जिनको पकड़ने के पुलिस ने संबंधित राज्य की पुलिस के साथ जाल बिछा रखा है। चूंकि पेपर लीक मामले का गिरोह हिमाचल ही नहीं अपित दिल्ली, बिहार, राजस्थान, यूपी व उत्तराखंड सहित 12 राज्यों में फैला हुआ है। प्रदेश पुलिस पेपर लीक करवाने में अलग-अलग राज्यों की गैंग संलिप्त है, जिन्होंने संगठित होकर पेपर लीक करवाया। राज्य पुलिस ने अभी तक 46 एजेंट, 116 अभ्यर्थी व 9 अभिभावक गिरफ्तार किए है। पुलिस हिरासत में लिए गए 116 अभ्यर्थी अब दोबारा 3 जुलाई को होने वाले पुलिस भर्ती की लिखित परिक्षा नहीं दे सकेंगे। यह बात हिमाचल पुलिस भर्ती का पेपर लीक होने के बाद पहली बार मीडिया के सामने आए हिमाचल पुलिस प्रमुख संजय कुंडू ने कही है।

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए दावा किया कि मामले में एक सप्ताह के भीतर चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी। डीजीपी ने कहा कि हिमाचल में ही नहीं कई अन्य राज्यों में भी पकड़े गए आरोपी पेपर लीक करवा चुके है। इस मौके पर पेपर लीक केस की जांच को गठित एसआईटी प्रमुख मधुसूदन ने जानकारी देते हुए कहा कि जो 171 गिरफ्तारियां की गई है उनमें जिला कांगड़ा से सबसे अधिक 91 आरोपियों को पकड़ा गया है। इसी तरह मंडी में 23, सोलन में 20, कुल्लू और बिलासपुर में क्रमश 3-3, हमीरपुर में 15, सिरमौर में 5, चंबा में 3 गिरफ्तारियां हुई है।

116 अभ्यर्थी, 9 अभिभावक और 46 एजेंट शामिल है। इनमें से अभी 47 आरोपित न्यायायिक हिरासत में चल रहे है। 2 को जमानत मिल चुकी है और अभी तक एक पुलिस कस्टडी में है। उन्होंने कहा कि अब तक की जांच में राज्य के 12 में से 9 जिलों में पेपर बिकने की बात सामने आ चुकी है जबकि शिमला, किन्नौर और लहौल-स्पीति के तार अभी नहीं जुड़े पाए गए है।

पेपर लीके केस में कई आरोपित सरकारी नौकरियों में भी कार्यरत : डीजीपी

डीजीपी ने कहा कि पेपर लीक केस में कई आरोपित सरकारी नौकरियों में भी कार्यरत है। जिन आरोपितों की तलाश है उनके पकड़े जाने पर सप्लीमेंट्री चार्जशीट पेश की जाएगी। पेपर प्रिंटिंग प्रेस से लीक हुआ इसका मास्टर माइंड बिहार का सुधीर यादव है जो प्रिंटिंग प्रेस में काम करता था। हालांकि पुलिस ने पेपर लीक मामले में पुलिस अधिकारियों के शामिल होने से इंकार नहीं किया है। मामले में राजस्थान से एक अभियुक्त संदीप टेलर को गिरफ्तार किया है, जिसने अपनी पत्नी के खाते में पैसे डाले थे। पत्नी को गिरफ्तार नहीं किया गया है क्योंकि वो गर्भवती है।

अब दोबारा पूरे राज्य में 3 जुलाई को होगी लिखित परीक्षा

ुलिस प्रमुख ने बताया कि पुरुष एवं महिला कांस्टेबल और ड्राइवरों के पदों के लिए पूरे राज्य में 3 जुलाई को दोपहर 12 से 1 बजे तक लिखित परीक्षा होगी। इसको लेकर तैयारियां मुकम्मल कर ली गई है। इससे पहले परीक्षा गत 27 मार्च को आयोजित की गई थी। पेपर लीक होने के कारण इसे रद्द कर दिया था।