रैपर बादशाह और व्यवसायी पुनीत बालन बने अल्टीमेट खो खो लीग की छठी टीम के मालिक

Spread the News

मुंबई: अल्टीमेट खो खो (यूकेके) में बॉलीवुड का एक नया रंग जुड़ गया है। लोकप्रिय गायक (रैपर) बादशाह तथा प्रसिद्ध फिल्म निर्माता, डेवलपर और खेलों मे रुचि रखने वाले पुनीत बालन मुंबई फ्रेंचाइजी के सह-मालिक के रुप में लीग में शामिल हो गए हैं। मुंबई की इस टीम के ऑनबोर्ड होने के साथ अल्टीमेट खो-खो के उद्घाटन संस्करण के लिए लाइन-अप पूरा हो गया है। अब इसी साल होने वाली इस बहु-प्रतीक्षित लीग में कुल छह टीमें शामिल हो गई हैं।

बादशाह का मानना है कि खो खो में गति के साथ-साथ एक एलिगेंट स्टाइल है और साथ ही साथ उनके लिए खास तौर पर इस खेल के प्रति खास लगाव है। बादशाह मानते हैं कि अल्टीमेट खो-खो में अपार क्षमता और संभावनाएं हैं। बादशाह की इच्छा है कि इस लीग से उनके जुड़ाव का एक मकसद भी है कि वह इस लीग से कुछ सुपरस्टार्स को सामने लाना चाहते हैं।

उत्साह से भरपूर बादशाह ने अल्टीमेट खो खो से जुड़ाव के खास कारण का खुलासा करते हुए कहा, “मेरी मां अपने कॉलेज के दिनों में खो-खो खेला करती थी और यही कारण है कि जमीन से जुड़ा खेल मेरे दिल के बहुत करीब है। इस नोस्टाल्जिक और व्यक्तिगत संबंध ने मुझे अल्टीमेट खो-खो का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित किया।” अपनी रैपिंग शैली के लिए बॉलीवुड में ख़ास जगह बना चुके बादशाह ने आगे कहा, ‘यह एक एड्रेनालाईन पैक्ड, तेज-तर्रार इनडोर खेल है जिसमें बेहद फुर्तीले खिलाड़ी हवा में स्काई-डाइव कर रहे होते हैं। सामान्य तौर पर, मुंबई की संस्कृति तेज और कुशल है और इसी कारण हम इस टीम को चाहते थे।

हम इस लीग के माध्यम से सर्वश्रेष्ठ खिलाड़यिों को नर्चर करना चाहते हैं और साथ ही साथ हम खिलाड़ियों के लिए सर्वोत्तम वातावरण, बुनियादी ढांचा, प्रशिक्षण और पोषण सुनिश्चित करना चाहते हैं।” एक युवा और गतिशील उद्यमी बालन नए जमाने के कुछ चुनिंदा खेल निवेशकों में से एक हैं। बालन ग्रुप एक ऐसी कंपनी है जिसका बाजार मूल्य 3,500 करोड़ रुपये है। इस कम्पनी का नेतृत्व करने के अलावा, बालन खेल रोजगार स्टार्ट अप में निवेश के अलावा बैडमिंटन, टेनिस, टेबल टेनिस और हैंडबॉल लीग जैसी विभिन्न खेल लीगों में भी टीमों के मालिक हैं और सक्रिय रुप से विभिन्न खिलाड़यिों का समर्थन करते हैं।

मुंबई फ्रेंचाइजी के सह-मालिक बालन ने कहा, ‘यदि आप कुछ विकसित करना चाहते हैं तो सही दृष्टिकोण अपनाना बहुत महत्वपूर्ण है। मैं काफी समय से कई लीग्स के माध्यम से खेलों के विकास में शामिल रहा हूं और अब अल्टीमेट खो-खो के साथ, मैं खो-खो की सफलता की यात्रा में एक भूमिका निभाना चाहता हूं।’’ यह पारंपरिक खेल महाराष्ट्र में उत्पन्न हुआ और इसी कारण यह राज्य भारतीय खो-खो सर्किट में हमेशा से एक प्रमुख शक्ति रहा है। महाराष्ट्र से कम से कम तीन टीमों ने राष्ट्रीय चैंपियनशिप में भाग लिया और हाल ही में संपन्न खेलो इंडिया यूथ गेम्स में भी, वह लड़कों और लड़कियों दोनों श्रेणियों में चैंपियन बनकर उभरा।

अल्टीमेट खो खो के सीईओ, तेनजिंग नियोगी ने कहा, ‘‘हम छठे फ्रैंचाइजी के सह-मालिक के रुप में बादशाह और पुनीत बालन का स्वागत करते हुए बेहद रोमांचित हैं। हमारे पास टीम मालिकों के रुप में पहले से ही बड़े कॉरपोरेट्स के साथ-साथ ओडिशा सरकार भी है और अब मनोरंजन क्षेत्र के ये दो लोकप्रिय नाम लीग की स्थिति और क्षमता को दर्शाते हैं। खो-खो की महाराष्ट्र में गहरी जड़ें हैं और राज्य की राजधानी का प्रतिनिधित्व करने वाली एक टीम निश्चित रुप से खेल की लोकप्रियता को बढ़ाने में हमारी मदद करेगी।’’ अल्टीमेट खो खो इस घरेलू खेल में क्रांति लाने के अपने मिशन की दिशा में बड़े कदम उठा रहा है। लीग ने पहले आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील, अडानी ग्रुप, जीएमआर ग्रुप, कैपरी ग्लोबल और केएलओ स्पोर्ट्स के सहयोग से ओडिशा सरकार सहित प्रतिष्ठित कॉर्पोरेट नामों को अपने रोस्टर में जोड़ा था और अब बादशाह तथा पुनीत बालन के रुप में उसे दो नए टीम मालिक मिल गए हैं।