Nupur Sharma को Supreme Court से फटकार, ट्रांसफर करने वाली याचिका खारिज, कहा- पुरे देश से मांगे माफ़ी

Spread the News

नई दिल्ली : भाजपा से निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट द्वारा की गई टिप्पणियों को लेकर देश के मुख्य न्यायाधीश को पत्र याचिका दी गई है। सामाजिक कार्यकर्ता अजय गौतम ने पत्र याचिका में मांग की गई है कि नूपुर शर्मा के खिलाफ जस्टिस सूर्यकांत द्वारा की गई टिप्पणी को वापस लिया जाए। उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा को फेयर ट्रॉयल का मौका मिलना चाहिए। इसके अलावा अजय गौतम ने कहा है कि नूपुर शर्मा की जान को खतरा है। जिस कारण उनके खिलाफ दर्ज सभी मामलों का दिल्ली ट्रांसफर किया जाए।

पैगंबर पर टिप्पणी मामले में नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को पूरे देश से माफी मांगने के लिए कहा है। साथ ही कोर्ट ने केस ट्रांसफर करने वाली याचिका को भी खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें हाई कोर्ट जाने के लिए कहा है। नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर को लेकर की गई टिप्पणी पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर की। नूपुर की ट्रांसफर अर्जी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उनकी टिप्पणी ने देश भर में माहौल खराब कर दिया है। आज जो कुछ देश में हो रहा है, उसके लिए वो जिम्मेदार हैं।

सुप्रीम कोर्ट की अवकाश पीठ द्वारा उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्या सहित इस्लामवादियों द्वारा हिंसा के लिए भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा की कड़ी आलोचना करने के बाद अब इस मामले में बेंच की इन टिप्पणियों को वापस लेने की याचिका दायर की गई है। मुख्य न्यायाधीश को भेजी गई याचिका में अजय गौतम ने अदालत से अनुरोध किया है कि नूपुर शर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति सूर्यकांत को अपनी टिप्पणियों को वापस लेने का आदेश जारी किया जाए, ताकि उन्हें निष्पक्ष सुनवाई का मौका मिले। उन्होंने यह भी अनुरोध किया है कि न्यायमूर्ति कांत की टिप्पणियों को अनावश्यक घोषित किया जाना चाहिए।