शास्त्रों के अनुसार घर के मंदिर में ये 3 चीजें रखना बेहद अशुभ, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

Spread the News

वास्तुशास्त्र और ज्योतिषशास्त्र के अनुसार हमें बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिए। अगर हम अपने घर में शांति चाहते है तो हमें अपने घर में वास्तुशास्त्र और ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। भारतीय सस्कृति में हर कोई भगवान की पूजा अर्चना करता है। जिससे भगवान की कृपा आप पर और घर में सुख शांति सदैव बनी रहती है।शास्त्रों के अनुसार घर में मंदिर का स्थान अलग होना चाहिए। मंदिर में ये 3 चीजे बिल्कुल भी नहीं रखनी चाहिए। तो चलिए आपको बताते हैं इसके बारे में…

-शास्त्रों के अनुसार, घर के मंदिर में कभी भी खंडित मूर्ति नहीं रखनी चाहिए। ऐसा करना ईश्वर का अपमान माना जाता है। मंदिर में खंडित मूर्ति रहने से घर में अशुभता का प्रभाव बढ़ता है। घर के मंदिर में अगर खंडित मूर्ति हो तो उसे तुरंत नदी, तालाब या नहर में विसर्जित कर देना चाहिए।

-शास्त्रों के अनुसार,मंदिर में कभी भी भगवान के रौद्र रूप वाली प्रतिमाएं नहीं रखनी चाहिए। भगवान के रौद्र रूप वाली मूर्तियां रखने का अर्थ होता है कि देवी-देवता स्वयं उस घर पर अपना क्रोध व्यक्त कर रहे हैं। देवी-देवताओं की हमेशा शांत, प्रसन्न मुद्रा और आशीर्वाद देने वाली प्रतिमा ही रखनी चाहिए।

-शास्त्रों के अनुसार,घर में एक से अधिक देवी-देवता की तस्वीर नहीं रखनी चाहिए। ऐसा माना जाता है कि मंदिर में एक से अधिक तस्वीरों या मूर्तियों के रहने से घर का वातावरण खराब होने लगता है।